DA Image
9 अप्रैल, 2020|12:22|IST

अगली स्टोरी

जुलाई की पेंशन अगस्त के अंत में

पुरानी नगर परिषद भले ही नगर निगम में तब्दील हो गई हो लेकिन कई चीजें ज्यों की त्यों ही हैं। शुक्रवार की शाम पुराने नगर परिषद यानी नए नगर निगम की पुरानी बिल्डिंग में महिलाओं की भीड़ इस बात की गवाही दे रही थी कि ये महिलाएं विधवा पेंशन के लिए आई हैं।

जुलाई की पेंशन 28 अगस्त को दी जा रही थी। घंटो इंतजार से परेशान वृद्ध महिलाएं अधिकारियों को बुरा-भला कहने में जुटी थी। इन विधवा महिलाओं को सरकार 600 रुपए प्रतिमाह पेंशन देती है।

इसके लिए उन्हें नगर निगम आकर बहुत देर तक इंतजार करना पड़ता है। पटौदी रोड से आई सुरेश कहती हैं, धूप में काफी देर खड़ा रहना पड़ा, इस वजह से हम परेशान हैं। हर महीने यह यातना झेलनी पड़ती है। कई वृद्ध महिलाएं कर्मियों पर चिल्लाती है। निगम में कोई ऐसा हॉल नहीं, जहां ये महिलाएं आराम से बैठकर इंतजार कर सके।

महज 600 रुपये के लिए घंटों का इंतजार परेशान करना पड़ता है, लेकिन उनके बुढ़ापे का सहारा भी यही है। देवी लाल कॉलोनी से आई उषा कहती है कि हमें यहां पेंशन के लिए बहुत इंतजार करना पड़ता है। एक-एक महिला को पेंशन देने में ये काफी वक्त लगाते हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:जुलाई की पेंशन अगस्त के अंत में