DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण जांच की मशीन अनिवार्य

प्रशासन अब शहर को प्रदूषण मुक्त करने की राह पर चल दिया है। शहर के सभी पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण जांच की मशीन लगाना अनिर्वाय कर दिया है। खास बात यह है कि पंपों पर लगी इन मशीनों की जांच हाईपावर कमेटी द्वारा की जाएगी। इस दौरान इनके द्वारा जारी किए गए प्रमाण पत्र के आधार पर वाहनों की क्रॉस चेकिंग की जाएगी, वह भी पोल्यूशन जांच मशीन से। कोई प्रमाण पत्र गलत पाया गया तो लाइसेंस जारी करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

फरीदाबाद के 49 पेट्रोल पंपों में से केवल 30 पंप ऐसे हैं, जहां वाहनों के प्रदूषण की जांच के लिए मशीनें लगाई गई हैं।19 पंपों पर यह मशीन नहीं है। जांच के बाद वाहन संचालकों को परिवहन विभाग द्वारा जारी प्रमाण पत्र दिया जाता है। पुलिस प्रदूषण के उस प्रमाण पत्र को देखने के बाद छोड़ देती है। लाख प्रयास के बावजूद भी शहर को प्रदूषण से मुक्ति नहीं मिल पा रही है। इस परिणाम को देख प्रदेश में एक हाईपावर कमेटी का गठन किया गया है।

जिसमें आरटीए, खाद्य एवं आपूर्ति एवं पोल्यूशन विभाग के अधिकारियों को शामिल किया गया है। यह कमेटी समय-समय पर औचक निरीक्षण करेगी। इस दौरान पोल्यूशन मशीन से वाहनों की जांच के साथ प्रदूषण की जांच करने वालों की मशीन की भी जांच की जाएगी। इस संबंध में शुक्रवार को जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के कार्यालय में एक बैठक बुलाई गई। जिसमें शहर के सभी पेट्रोल पंप डीलरों ने भाग लिया।

बैठक में उपस्थित जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी बृजेंद्र सिंह ने सभी डीलरों को निर्देश दिए कि वे अपने पंपों पर एक बोर्ड लगाएं। जिस पर नियमित रूप से मशीन से प्रदूषण जांच का उल्लेख होना चाहिए। इसके अलावा उन्हें सरकार की ओर से जारी अन्य हिदायतों के बारे में बताया। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी सम्मत राम ने बताया कि प्रदेश में गठित हाईपावर कमेटी शहर में औचक निरीक्षण कर प्रदूषण से संबंधित जांच करेगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण जांच की मशीन अनिवार्य