DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एटीएस ने असलम के साथियों की पड़ताल तेज की

उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) दिल्ली में पकड़े गए लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध आतंकवादी मोहम्मद असलम उर्फ सलीम के दो साथियों के बारे में विस्तृत जानकारी जुटा रहा है, जो उसके साथ लखनऊ विश्विद्यालय में पढ़ते थे। इस संबंध में एटीएस की तरफ से लखनऊ में दो जगहों पर पड़ताल की गई है।

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रथम बृजलाल ने शुक्रवार को लखनऊ में संवाददाताओं को बताया कि मो. असलम उर्फ सलीम 2003-05 तक लखनऊ विश्वविद्यालय के अरबी विभाग से परास्नास्तक (एमए) का छात्र रह चुका है। वह कश्मीर के राजौरी का रहने वाला है और लखनऊ में वह मो. सलीम नाम से रहता था।

एटीएस सूत्रें के मुताबिक मो. असलम ने अपने दो सहपाठियों अब्दुल्ला और अशरफ के साथ एक सोची समझी रणनीति के तहत लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया था। फिलहाल दोनों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। सूत्रों के मुताबिक लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से एटीएस को तीनों के परिचय पत्र की विस्तृत जानकारी दी गई है।

इस बीच एटीएस ने गुरुवार रात और शुक्रवार को हसनगंज क्षेत्र के आसिफ लाज और मदेयगंज की आशीष लाज में मो. असलम और उसके साथियों के बारे में पड़ताल की। बताया जाता है कि असलम जब लखनऊ विश्वद्यालय का छात्र था उस दौरान वह दोनों लाजों में रह चुका है।

उधर अब्दुल्ला और अशरफ के बारे में जानकारी लिए एटीएस की एक टीम सलीम से पूछताछ करने के लिए पहुंच चुकी है।
 
अपर पुलिस महानिदेशक अरविंद कुमार जैन ने बताया कि उत्तर प्रदेश एटीएस टीम को सलीम से पूछताछ करने के लिए अभी दिल्ली पुलिस की तरफ से समय नहीं मिला है।

उधर लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने ऐसे सभी छात्रों का डाटाबेस तैयार करवाना शुरू कर दिया है जो दूसरे प्रांतों से आकर यहां शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एटीएस ने असलम के साथियों की पड़ताल तेज की