अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आटो बाजार में जान फूंकने कल आ रही है ‘नैनो’

मार्च का दिन सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि समूची दुनिया के आटो क्षेत्र के लिए एक यादगार दिन होगा, जब विश्व की सबसे सस्ती कार टाटा की नैनो बाजार में उतरेगी। राल्स रायस, हुंदई मोटर्स, वाक्स वैगन और मर्सीडीज जैसी एक से बढ़कर एक खूबसूरत लक्जरी गाड़ियों के वैश्विक बाजार में अपनी बड़ी सी पहचान लेकर उतर रही नन्ही मुन्नी नैनो की मौजूदगी बड़े-बड़े आटो दिग्गजों को अपनी दमदार मजबूती का एहसास कराएगी। महज 3.1 मीटर लंबी और 623 सीसी पावर वाली इस छोटी कार के विंड शील्ड में बस एक ही वाइपर लगा है। बिना एयर बैग और एंटी लॉक ब्रेक की यह गाड़ी कई संस्करण में उपलब्ध होगी, जिसमें सबसे मंहगी श्रेणी वाली गाड़ी एयरकंडीशनर, रेडिया और पावर स्टीयरिंग से लैस होगी। नैनो का बाजार तक पहुचंने का सफर काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा। अपनी शुरुआत में ही इसे पश्चिम बंगाल के सिंगुर में राय की प्रमुख विपक्षी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। सिंगूर संयंत्र के लिए स्थानीय लोगों की जमीन अधिग्रहण करने के मसले को लेकर कंपनी के मालिक रतन टाटा को इतना विरोध झेलना पड़ा कि आखिरकार वह अपनी परियोजना समेट कर गुजरात के साण्ांद चले गए। टाटा मोटर्स की विदेशी बाजार में ‘टाटा नैनो यूरोपा’ लाने की भी योजना है। दस महीने जेनेवा में आयोजित हो रही आटो प्रदर्शनी में यह गाड़ी उतारी जाएगी। टाटा की वर्ष 2011 तक यूरोपा लांच करने की योजना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आटो बाजार में टाटा की ‘नैनो’ फूंकेगी नई जान