DA Image
26 जनवरी, 2020|7:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाइनल की पुख्ता तैयारी करने पर भारत की नजर

फाइनल की पुख्ता तैयारी करने पर भारत की नजर

गत विजेता भारतीय टीम सीरिया के खिलाफ शनिवार को अम्बेडकर स्टेडियम में होने वाले नेहरू कप अंतरराष्ट्रीय फुटबाल टूर्नामेंट के अंतिम राउंड रोबिन मुकाबले में रक्षात्मक खामियों को दूर कर इसी प्रतिद्वंद्वी के विरुद्ध होने वाले फाइनल तक विजयी लय बरकरार रखने की कोशिश करेगी।

शुरुआती मैच में लेबनान से 0-1 से हारने के बाद भारत ने वापसी करते हुए किर्गीस्तान पर 2-1 से जीत दर्ज की और फिर श्रीलंका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए उसे 3-1 से मात दी।

सीरिया के खिलाफ शनिवार को होने वाले मैच का हालांकि अब ज्यादा महत्व नहीं है क्योंकि सीरिया ने गुरुवार को लेबनान को 1-0 से मात दी, लेकिन मेजबान टीम को इस मैच में जीत दर्ज कर 31 अगस्त को होने वाले फाइनल में इसी प्रतिद्वंद्वी के विरुद्ध विजयी लय जारी करने का प्रयास करेगा।

भारतीय टीम के चार डिफेंडर उसके लिए कमजोर कड़ी रहे हैं क्योंकि लेबनान और किर्गीस्तान के खिलाफ वे जूझते नजर आए थे। श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने इसमें थोड़ा सुधार किया, लेकिन विपक्षी टीम को फ्री हेडर देकर कार्नर से गोल करने का मौका दे दिया, जिसे कोच बाब हाटन ने निराशाजनक करार किया था।

अगर भारतीय टीम शनिवार को मुकाबले में मजबूत स्थिति में होती है तो हाटन के पास मैच के अंत में रिजर्व खिलाड़ियों को आजमाने का मौका होगा। इस हालत में हाटन कप्तान बाईचुंग भूटिया की जगह अभिषेक यादव को मैदान पर उतारना चाहेंगे क्योंकि इस स्टार स्ट्राइकर को लेबनान के खिलाफ पीला कार्ड मिल चुका है। हाटन फाइनल में भूटिया को गंवाने की कोताही नहीं बरत सकते।

वहीं, राइट बैक सुरकुमार सिंह को भी पीला कार्ड दिखाया जा चुका है और अगर यह मणिपुरी सीरियाई आक्रमण से थकान महसूस करता है तो अनुभवी दीपक मंडल उनकी जगह मैच के अंत में मैदान पर उतारा जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:फाइनल की पुख्ता तैयारी करने पर भारत की नजर