DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शनिवार को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार देंगी राष्ट्रपति

शनिवार को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार देंगी राष्ट्रपति

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल देश का नाम रोशन करने वाले 24 खिलाडियों और प्रशिक्षकों को शनिवार को नई दिल्ली में एक समारोह में राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित करेंगी।

हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर राष्ट्रपति भवन में होने वाले इस समारोह में तीन खिलाडियों को राजीव गांधी खेल रत्न और 15 को अजरुन पुरस्कार दिए जाएंगे। इसके अलावा दो पूर्व खिलाडियों को ध्यानचंद और चार प्रशिक्षकों को द्रोणाचार्य पुरस्कारों से नवाजा जाएगा।

किसी साल में बेहतरीन प्रदर्शन पर मिलने वाला राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार सिर्फ एक खिलाडी़ को दिया जाता है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भारत के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए इस दफा यह पुरस्कार तीन खिलाडियों, चार बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम और ओलंपिक कांस्य विजेताओं विजेन्दर (मुक्केबाजी) तथा सुशील कुमार (कुश्ती) को देने का फैसला किया गया है।

विजेन्दर को इटली के मिलान में होने वाले विश्व कप के लिए बुधवार को ही रवाना होना था। लेकिन राष्ट्रपति के हाथों से पुरस्कार लेने के लिए उन्होंने और द्रोणाचार्य विजेता उनके कोच जयदेव बिष्ट ने अपनी रवानगी 29 अगस्त की रात तक टाल दी।

राजीव गांधी खेल रत्न, अजरुन, ध्यानचंद और पहली बार दिए जा रहे राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कारों के लिए चयन इंदु पुरी की अध्यक्षता वाली समिति ने किया। द्रोणाचार्य पुरस्कारों के लिए चयन का जिम्मा जीएस रंधावा की अध्यक्षता वाली एक समिति को सौंपा गया था।

इन पुरस्कारों में दी जाने वाली ट्राफियों और मेडलों को फिर से डिजाइन किया गया है ताकि हमेशा आगे बढ़ते जाने की इंसानी चाहत को नए जमाने की नई चमक दी जा सके। साथ ही खेलों के परंपरागत मूल्यों को रेखांकित करने के लिए इन ट्राफियों को पौराणिक सी शक्ल दी गई है।

अजरुन पुरस्कार लगातार तीन साल उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए दिया जाता है। खेलों में आजीवन योगदान के लिए ध्यानचंद और पदक विजेता खिलाडी़ तैयार करने वाले प्रशिक्षकों को द्रोणाचार्य पुरस्कार दिया जाता है।

इस बार इन पुरस्कारों में मिलने वाली इनामी रकम को बढा़ दिया गया है। राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता को मेडल और प्रशस्तिपत्र के अलावा साढे़ सात लाख रुपए मिलेंगे। अजरुन, ध्यानचंद और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेताओं को ट्राफी, प्रशस्तिपत्र और पांच लाख रुपए दिए जाएंगे। राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार पाने वाली संस्थाओं को ट्राफी और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाएगा।

पुरस्कार विजेताः

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कारः एमसी मेरीकाम (मुक्केबाजी), विजेन्दर (मुक्केबाजी) और सुशील कुमार (कुश्ती)।

अजरुन पुरस्कारः मंगल सिंह चंपिया (तीरंदाजी), सिनिमोल पौलस (एथलेटिक्स), सायना नेहवाल (बैडमिंटन), एल सरिता देवी (मुक्केबाजी), तानिया सचदेव (शतरंज), गौतम गंभीर (क्रिकेट), इग्नेस टिर्की (हाकी), सुरिन्दर कौर (हाकी), पंकज नवनाथ शिरसत (कबड्डी), सतीश जोशी (रोविंग), रंजन सोढी़ (निशानेबाजी), पौलोमी घटक (टेबल टेनिस), योगेश्वर दत्त (कुश्ती), गिरधारी लाल यादव (पाल नौकायन) और पारुल परमार (बैडमिंटन) शारीरिक अशक्त वर्ग।

ध्यान चंद पुरस्कारः इशर सिंह देओल (एथलेटिक्स) और सतबीर सिंह दहिया (कुश्ती)।

द्रोणाचार्य पुरस्कारः पुलेला गोपीचंद (बैडमिंटन), जयदेव बिष्ट (मुक्केबाजी), सरदार बलदेव सिंह (हाकी) और सतपाल (कुश्ती)।

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कारः सामुदायिक खेल पहचान और प्रतिभा विकास (टाटा स्टील)। खेल अकादमी गठन और प्रबंधन (टाटा स्टील)। खिलाडियों का नियोजन और कल्याण (रेलवे खेल संवर्धन बोर्ड)।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शनिवार को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार देंगी राष्ट्रपति