DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का फैकल्टी सदस्य निलंबित

 अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन ने गुरूवार को 20 साल पुराने मुद्दे को खोलते हुए विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ फैकल्टी सदस्य को अपने अंकपत्र के साथ छेड़छाड़ करने के मामले में निलंबित कर दिया। उल्लेखनीय है कि मनोवित्रन विभाग के जाने माने रीडर डा़ तारिक इस्लाम को विश्वविद्यालय प्रशासन ने र्दुव्यवहार का दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया और साथ ही यह भी आदेश दिया है कि बिना कुलपति की अनुमति के वह शहर छोड़कर नहीं जा सकते।

तारिक का निलंबन पत्र कल जारी किया गया। इस पत्र में कहा गया है कि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। इस्लाम ने इस बाबत कहा, मुझे निलंबन से पहले कोई कारण बताओ नोटिस जारी नहीं किया गया है। पिछले कुछ साल में इस्लाम ने विश्वविद्यालय में व्याप्त अनियमितताओं को उजागर करने के लिए कई बार सूचना के अधिकार का प्रयोग किया था।

माना जा रहा है कि इस्लाम के इस कदम से विश्वविद्यालय के कई बड़े अधिकारियों के खिलाफ बहुत सारे प्रमाण इकठठे हो रहे हैं। विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार परवेज मुस्तजाब ने प्रेट्र को बताया, डा इस्लाम के आरोपों में कोई तथ्य नहीं है और उनको नौकरी के लिए आवेदन करते समय अपने अंकपत्र के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में निलंबित किया जाता है। उन्होंने कहा कि आरोप पत्र में उनके खिलाफ सभी आरोपों का विवरण दिया गया है, जो उन्हें जल्द मिल जाएगा। इसी बीच विश्वविद्यालय का शिक्षक संगठन आपात बैठक कर इस मामले

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का फैकल्टी सदस्य निलंबित