DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निवेश से पहले

मुश्किल समय में निवेशक के मन में सबसे बड़ी चिंता होती है कि वह किस तरह निवेश को बचाएं। कठिन समय में किया गया निवेश दीर्घकाल में अकसर बेहतर रिटर्न देता है। लेकिन इस दौर में निवेशक आंख मूंदकर भी निवेश नहीं कर सकता। इस समय इक्विटी में निवेश करना बेहतर विकल्प हो सकता है। आज हम इस बात की चर्चा करेंगे कि इस मुश्किल वक्त में निवेश करते समय किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

बेहतर कंपनी चुनें : अकसर लोग कंपनी चुनते वक्त वर्तमान के मूल्य के साथ, कुछ समय पहले कंपनी के मूल्य पर गौर करते हैं। लेकिन निवेश के लिहाज से यह तरीका सौ फीसदी सही नहीं है। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि जिन कंपनियों में उतार-चढ़ाव बहुत ज्यादा हो रहा है, उनके भविष्य में बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद कम है। इस दौरान आप ऐसी कंपनियों में निवेश को तरजीह दें जो बुनियादी तौर पर सशक्त हो, साथ ही उनमें भविष्य में बेहतर अवसर दिख रहे हों।

फैसलों में समझदारी : मुश्किल समय में निवेश करते समय रिस्क फैक्टर काफी ज्यादा होता है। ऐसे में निवेशक को निवेश करते समय काफी सावधानी बरतनी चाहिए। जितने पैसे का रिस्क आप उठा सकने में सक्षम हैं, उसे निवेश करना ही आपके लिए बेहतर होगा। यह समय उम्मीद से ज्यादा रिस्क लेने का नहीं है और न ही इस दौर में आपको शॉर्ट टर्म में बहुत ज्यादा फायदे की उम्मीद करनी चाहिए। इस समय दीर्घकाल में किया गया निवेश आपके लिए बेहतर साबित होगा।  इस दौरान फैसले लेने में जल्दबाजी न बरतें। इस दौरान निवेशक को पूरी स्थिति को गंभीरता से समझना होगा और कैसे वह इस स्थिति में बेहतर कर सकता है, इस बात की जानकारी करनी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निवेश से पहले