DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जातीय विवाद के चलते दलितों की सुरक्षा के निर्देश

अभयपुर में जातीय विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पीड़ित पक्ष के लोगों ने इसी सिलसिले में उपायुक्त व पुलिस आयुक्त से मुलाकात कर सुरक्षा की मांग की। हालात को बिगड़ते देख प्रशासन ने गांव में सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दे दिए हैं, जबकि पानी की आपूर्ति भी जल्द बहाल करने का ग्रामीणों को आश्वासन दिया है।

विवादित मामले की शुक्रवार को अदालत में सुनवाई है। इसी बात को लेकर दहशतजदा दलितों ने प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों से मिलकर मदद की गुहार लगाई है। एक वर्ष पहले गांव अभयपुर में बलात्कार के दोषी के खिलाफ दर्ज मुकदमे को वापस लेने को लेकर दूसरे पक्ष की ओर से लगातार पीड़ित 60 वर्षीय वृद्धा पर दबाव बढ़ाया ज रहा था। इसी सिलसिले में हुई पंचायत के बाद दलितों के घर की बिजली और पानी आपूर्ति बाधित कर दी गई थी।

प्रशासन की मध्यस्थता के बाद बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है, जबकि पानी की आपूर्ति भी जल्द सुलभ बनाने का आश्वासन दिया गया है। उपायुक्त आरके कटारिया ने इस मामले में कहा कि इस मामले को राजनीतिक हवा देने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। ग्रामीणों के लिए बिजली और पानी की बुनियादी सुविधाएं उपलब्घ कराई जा रही हैं। साथ ही कहा कि जतिगत शब्दों का गलत प्रयोग करने वालों के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि डीसीपी साउथ के नेतृत्व में गठित पुलिस टीमें गठित कर, सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने में जुटे हैं। देर रात तक इस इलाके में पुलिस पेट्रोलिंग भी की जाएगी, ताकि इस विवाद को राजनीतिक रंग नहीं दिया जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जातीय विवाद के चलते दलितों की सुरक्षा के निर्देश