DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओक्वा कर्मियों के समक्ष रोजगार का संकट

दवाइयां बनाने वाली कंपनी ओक्वा लैब के सभी उत्पादों को रैनबैक्सी ने खरीद लिया है। इन दोनों कंपनियों के मिलने से ओक्वा के सैकड़ों कर्मचारियों के समक्ष रोजगार का संकट हो गया है।

सेक्टर 32 स्थित रेनबैक्सी के मुख्यालय के समक्ष फेडेरेशन ऑफ मेडिकल एंड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव एसोसिएशन के साथ कर्मियों ने धरना दिया। कर्मचारियों ने रैनबैक्सी के एचआर जीएम दिनेश जुगरानी को एक ज्ञापन दिया।

इसमें कर्मचारियों को भी कंपनी के साथ नौकरी पर रखने की गुजरिश की गई है। औक्वा के लगभग 300 कर्मचारी रेनबैक्सी द्वारा कंपनी को मर्ज कर लिए जाने के कारण बेरोजगार हो गए हैं। धरने को फेडरेशन ऑफ मेडिकल एंड सेल्स रिप्रेजेंटेटिव एसोसिएशन के सचिव एच स्याल, सीटू के जिलाध्यक्ष का. सतबीर यादव और सुरेश मलिक ने भी संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि कर्मचारी मांग नहीं माने जाने पर आंदोलन तेज करेंगे।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओक्वा कर्मियों के समक्ष रोजगार का संकट