DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार के कई और इलाकों में बाढ़ का पानी घुसा

बिहार के कई जिलों में बाढ़ का कहर जारी है। कटिहार जिले में जहां महानंदा नदी का तटबंध टूट जाने से अमदाबाद प्रखंड क्षेत्र में बाढ़ का पानी घुस गया है वहीं दरभंगा तथा मधुबनी जिले के करीब 24 प्रखंडों में भी बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। सूबे के करीब दो लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक बाढ़ के कारण अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है। दरभंगा में पांच तथा सीतामढ़ी में तीन लोग बाढ़ के प्रकोप का शिकार हुए हैं। प्रदेश में बाढ़ के कहर से पांच लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।

मधुबनी जिले के बेनीपट्टी, झंझरपुर और फुलपरास अनुमंडल में बाढ़ के पानी के कारण करीब दो लाख लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बाढ़ प्रभावित लोग अब पलायन कर रहे हैं। बागमती, कोसी तथा कमला नदी में उफान आने के बाद समस्तीपुर में बाढ़ की स्थिति और खराब हो गई है। जिले के सिंधियाबिथान तथा कल्याणपुर प्रखंड के करीब 80 गांवों में बाढ़ का पानी तबाही मचाए हुए है।

कटिहार के जिलाधिकारी देवोम वर्मा ने गुरुवार को बताया कि इस तटबंध टूटने से तीन पंचायतों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है, जिससे 20 से 25 हजार लोग प्रभावित हुए हैं।

उन्होंने बताया कि बुधवार को जल संसाधन विभाग के मुख्य अभिंयता राजेश्वर दयाल ने भी क्षतिग्रस्त तटबंध के स्थल का निरीक्षण किया था। उन्होंने बताया कि तटबंध के मरम्मत के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

जिले के कदवा प्रखंड के भी पांच पंचायतों में बाढ़ का पानी घुस गया है। बाढ़ के पानी के कारण कदवा का जिला मुख्यालय से सड़क संपर्क टूट गया है।

दरभंगा जिले के बेनीपुर प्रखंड स्थित बलानी गांव के नजदीक भरताहा बांध के टूट जाने से जिले में बाढ़ की स्थिति और खराब हो गई है। जिले के 12 प्रखंडों के लोग पहले से ही बाढ़ का कहर झेल रहे थे।

दरभंगा के जिलाधिकारी प्राण मोहन ठाकुर ने बताया कि बांध क्षतिग्रस्त हिस्से के निरीक्षण के लिए अनुमंडल पदाधिकारी को भेजा गया है। बाढ़ के पानी के कारण दरभंगा-बेनीपुर मुख्यमार्ग पर दो से तीन फुट पानी बह रहा है जिसके चलते इस पथ पर आवागमन ठप हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार के कई और इलाकों में बाढ़ का पानी घुसा