DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो मीटर तक देख सकता हूं: बलजीत

दो मीटर तक देख सकता हूं: बलजीत

भारतीय हाकी टीम के चोटिल गोलकीपर बलजीत सिंह ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका में अपनी दायीं आंख के सफल आपरेशन के बाद अब वह दो मीटर तक की चीजों का देख सकते हैं।

बलजीत ने हालांकि कहा कि उनकी आंख की कितनी रोशनी लौट पाती है इसके लिए उन्हें दो तीन महीने इंतजार करना होगा। उन्होंने कहा कि मैं बुधवार को डा राबर्ट मौरिस से मिला। उन्होंने मेरी आंख की जांच की। मुझसे काला चश्मा पहनकर प्राकृतिक रोशनी में देखने के लिए कहा गया। इसके बाद मेरी दोनों आंखों पर दबाव देकर जांच की गई।

बलजीत ने कहा कि अब मैं दो मीटर तक की चीजों को देख सकता हूं। आपरेशन से पहले मैं अपनी दायीं आंख से कुछ भी नहीं देख पा रहा था लेकिन अब मैं कुछ देखने लग गया हूं। डा मौरिस ने मुझसे कहा कि सुधार है लेकिन उसकी प्रक्रिया धीमी है।

भारतीय गोलकीपर ने कहा कि डा मौरिस ने बताया कि अगले दो तीन महीने में इसमें काफी सुधार हो जाएगा और मैं अच्छी तरह से देख पाऊंगा तथा यहां तक कि रंगों की भी पहचान कर सकता हूं। उन्होंने कहा कि लेकिन यह जानने में समय लगेगा कि मेरी रोशनी शत-प्रतिशत लौट आई है या नहीं।

बलजीत अपनी आंख की चोट पर सलाह लेने के लिए अमेरिका गए थे तथा नेत्ररोग विशेषत्र डा राबर्ट मौरिस की देखरेख में इस महीने के शुरू में अलबामा के निजी अस्पताल में उनकी आंख का आपरेशन किया गया। उन्होंने कहा कि मैं अब थोड़ा राहत और अच्छा महसूस कर रहा हूं। अब मैं यह जरूर कहूंगा कि डा मौरिस से आपरेशन करवाने का फैसला सही था।

बलजीत ने कहा कि डा मौरिस मुझे संभवत: गुरुवार को बताएंगे कि मुझे कब तक अलबामा में रहना है। मुझे शुक्रवार को उनसे मिलने के लिए कहा गया है। उन्होंने सरकार का भी आभार व्यक्त किया जिसने अमेरिका में उनके इलाज का खर्च उठाया। उन्होंने कहा कि अब मुझे आशा की किरण दिखाई देने लगी है। मैं वित्तीय सहायता के लिए भारत सरकार, खेल मंत्रालय और आईओए का आभार व्यक्त करता हूं। बलजीत पुणे में अभ्यास में दौरान गोल्फ की गेंद लगने के कारण चोटिल हो गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो मीटर तक देख सकता हूं: बलजीत