DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वनडे की जरूरत नहीं, टी-20 और टेस्ट काफी: वॉर्न

वनडे की जरूरत नहीं, टी-20 और टेस्ट काफी: वॉर्न

महान स्पिनर शेन वॉर्न का मानना है कि ट्वेंटी-20 क्रिकेट के आने से अब वनडे क्रिकेट बेमानी हो गया है और इसे खत्म कर देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं फिर कहूंगा कि वनडे क्रिकेट बंद कर देना चाहिए। अब ट्वेंटी-20 क्रिकेट का जमाना है। इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सत्र में राजस्थान रॉयल्स को खिताब दिलाने वाले कप्तान वॉर्न टी-20 क्रिकेट के धुर समर्थक हैं।

वॉर्न ने ये सब हेराल्ड सन में अपने कॉलम में लिखा। वॉर्न के मुताबिक क्रिकेट शेड्यूल को लेकर कुछ किया जाना चाहिए। यह काफी लंबा होता जा रहा है ।

एशेज के बाद ऑस्ट्रेलिया के शेड्यूल की भी उन्होंने आलोचना की। ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड के खिलाफ सात मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है ।

वॉर्न ने कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड के खिलाफ बेमानी वनडे सीरीज, दक्षिण अफ्रीका और भारत में भी वनडे सीरीज खेलनी है।

वॉर्न ने कहा कि यह मजाक लगता है कि किसी अन्तरराष्ट्रीय टीम को पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के बाद उसी टीम के खिलाफ सात वनडे मैच खेलने हैं।

उन्होंने कहा कि अब से लेकर अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाली एशेज सीरीज के बीच केवल नौ टेस्ट मैच होने हैं जबकि इसी दौरान बहुत ज्यादा संख्या में वनडे मैच होंगे।

वॉर्न का कहना है कि टीम को एशेज हारते हुए देखकर दुख होता है। मैं समझ सकता हूं कि हमारे खिलाड़ी कैसा महसूस कर रहे होंगे क्योंकि मैंने अपने कैरियर में पहली बार 2005 में एशेज को लेकर हार का मुंह देखा था ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वनडे की जरूरत नहीं, टी-20 और टेस्ट काफी: वॉर्न