DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवैध रक्त व्यापार में लिप्त गिरोह के मुखिया का आत्मसमर्पण

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में पिछले हफ्ते पकड़े गये अवैध रक्त व्यापार में लिप्त गिरोह के मुखिया जितेन्द्र सिंह उर्फ पिंटू ने एक स्थानीय अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, मूलत: सीतापुर निवासी पिंटू ने बुधवार को अपर नगर न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में समर्पण कर दिया, जिसने उसे आठ सितम्बर तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सूत्रों ने बताया है कि पुलिस ने अदालत में एक अर्जी देकर पिंटू को पुलिस हिरासत में दिये जाने का आग्रह किया है।

उल्लेखनीय है कि लखनऊ पुलिस ने 22 अगस्त को ठाकुरगंज इलाके में अवैध रक्त संग्रह और विक्रय कारोबार में लिप्त एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए छह व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया था, मगर गिरोह का मुखिया पिंटू और अन्य सात सदस्य फरार थे।

पुलिस ने अवैध रक्त व्यापार में लगे गिरोह के गिरफ्तार सदस्यों पर रासुका लगा दिया है। इस बीच, खाद्य एवं औषधि प्रशासन के आयुक्त ने बताया है कि प्रदेश भर में नकली दवाओं एवं अवैध रक्त व्यापार में लगे लोगों की धर पकड़ के लिए छापेमारी का सिलसिला जारी है और बुधवार को प्रदेश के गाजियाबाद तथा सोनभद्र जिलों में क्रमश: तीन और चार व्यक्तियों के विएद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अवैध रक्त व्यापार में लिप्त गिरोह के मुखिया का आत्मसमर्पण