DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिल्मों में अभिनय सबसे उबाऊ कामः नसीरुद्दीन शाह

फिल्मों में अभिनय सबसे उबाऊ कामः नसीरुद्दीन शाह

वरिष्ठ फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह का कहना है कि फिल्मों में अभिनय करना दुनिया का सबसे उबाऊ काम है और पैसे की बात नहीं होती तो कोई यह काम नहीं करता।

श्रीनगर में एक थिएटर कार्यशाला के दौरान एक खबरिया चैनल को दिए साक्षात्कार में नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि उनके सामने बहुत कम ऐसी अच्छी पटकथाएं आती हैं कि फिल्म करने का उनका मन करे।

उन्होंने कहा, हम कोई महान पटकथाएं नहीं दे पाते हमारे कथित फिल्म लेखक यही करते हैं कि हॉलीवुड की जो आखिरी फिल्म उन्होंने देखी होती है, लिख देते हैं।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उन्हें कुदरत ने बचा लिया कि वह स्टार नहीं बने वरना उन्हें भी हर फिल्म में वही-वही भूमिका करनी पड़ती।

हास्य फिल्में करने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि 'जाने भी दो यारो' जैसी फिल्में बनाने वाले फिल्मकार फिल्म बना ही नहीं रहे, वह क्या करें। हालांकि इधर कुछ युवा निर्देशक अच्छी फिल्में बना रहे हैं।

फिल्म 'ए वेडनेस्डे' के आलोचकों को आड़े हाथों लेते हुए नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि उनके मित्र निर्देशक गोविंद निहलानी ने 'देव' नामक फिल्म बनाई थी जिसमें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की कट्टर विचारधारा को बढा़वा दिया गया था।

कश्मीर के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में नसीरुद्दीन ने कहा कि कश्मीर को या तो हिंसा देखने को मिलती है या फिर हिंदी फिल्में देखने को मिलती हैं और यह सबसे खतरनाक मिश्रण है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिल्मों में अभिनय सबसे उबाऊ कामः नसीरुद्दीन शाह