DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर में अपराधियों के निशाने पर आ रहे सीनियर सिटीजन्स

अकेले हैं.बूढ़े हैं तो चौकन्ने रहिए
- डीजीपी के आदेश पर नहीं हो रहा अमल
- पुलिस को नहीं बुजुर्ग नागरिकों की फिक्र
- ऐसे लोगों के संग आए दिन हो रहे अपराध


डीजीपी चाहते हैं कि यूपी पुलिस सीनियर सिटीजन्स का खास ख्याल रखे। यदि वे शहर में अकेले रहते हैं तो वक्त-बेवक्त जाकर उनका हाल-चाल जाने और उनकी सुरक्षा भी करे। पुलिस को पता रहे, उनके इलाके में अकेले रहने वाले बुजुर्ग नागरिक कितने हैं। बाकी जिलों का क्या हाल है, यह तो नहीं मालूम मगर गाजियाबाद पुलिस को अपने मुखिया के आदेश की तनिक भी फि क्र नहीं। यहां शायद ही ऐसा कोई थानेदार होगा, जिसने इलाके में अकेले रहने वाले किसी बुजुर्ग नागरिक का हाल जाना। उनकी सुरक्षा तो दूर की बात है। यही वजह है, शहर में बुजुर्ग नागरिक अपराधियों के निशाने पर आ रहे हैं और पुलिस सो रही है। बुधवार को कविनगर थानांतर्गत डाक्टर की वृद्ध मां के साथ घर में हुई लूटपाट व बंधक बनाए जाने की घटना से पुलिस की इस हवाई कार्रवाई का खुलासा हुआ।
हॉट सिटी के पॉश इलाकों में करीब हजारों की संख्या में सीनियर सीटिजन रहते हैं। काफी ऐसे हैं जो जिनके बेटे, बेटियों की शादी हो चुकी है और वे घर पर अकेले रहते हैं। प्रदेश में सीनियर सीटिजनों के साथ हुई वारदात के बाद डीजीपी विक्रम सिंह ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए थे कि सभी थाना प्रभारी अपने एरिया में अकेले रहने वाले सीनियर सीटिजनों के का ब्यौरा अपने पास रखेंगे। उस एरिया में लगने वाली चौकी का इंचार्ज समय- समय पर उनके पास जाकर उनकी खैर-खबर अपने पास रखेगा यदि उनकी कोई समस्या है तो उसका निदान करने में उनकी मदद करेगा। हर थाना प्रभारी व थानाध्यक्ष जब भी वहां से गुजरेगा तो वह सीनियर सिटीजन से मिलता हुआ जाएगा, लेकिन यहां पर स्थिति बिल्कुल विपरीत है। थानों में उनके एरिया में अकेले रहने वाले सीनियर सिटीजनों का ब्यौरा ही मौजूद नहीं है। इस बारे में पूछने पर एसएसपी अखिल कुमार का कहना है कि अब उनके संज्ञान मे यह बात आई है। वह थाना प्रभारियों व थानाध्यक्षों को इस पर अमल करने के लिए निर्देश देंगे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहर में अपराधियों के निशाने पर आ रहे सीनियर सिटीजन्स