DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एडीज मच्छर को रोका जाएगा लारवी साईड से

डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छर के अण्डों को मच्छर बनने से रोकने के लिए नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग लारवी साईड का इस्तेमाल करेगा। ताकि जिले में डेंगू बीमारी को फैलने से रोका जा सके। नगर निगम के आयुक्त राजेश खुल्लर व व जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार ने यह निर्णय एक बैठक में लिया। इस समय निगम के पास पांच सौ किलो लारवी साईड उपलब्ध है।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ.कृष्ण कुमार ने बताया कि लारवी साईड को पानी में डालने के बाद मच्छर का अण्डा उसी अवस्था में रह जाता है। वह पूरा मच्छर नहीं बन पाता। एक हजार लीटर पानी में एक ग्राम लारवी साईड काफी रहता है। इसका असर एक महीने तक रहता है। जबकि यह पानी दवा डालने के बाद भी पीने योग्य रहता है।

उन्होंने बताया कि डेंगू बुखार एडीज मादा मच्छर के काटने से फैलता है। जो कि दिन के समय काटता है। यह मच्छर एक दिन में 150 मीटर की दूरी तय करता है। उन्होंने इस बारे में और अधिक जानकारी देते हुए बताया कि यह मच्छर साफ पानी जैसे- घर की छत पर रखी पानी की टंकियों, फूलदानों, कूलर आदि में पनपता है।

इसका अण्डा सात दिन में पूरा मच्छर बन जाता है। इसलिए इससे बचाव के लिए जरुरी है कि लोग सप्ताह में कम से कम एक बार अपनी पानी की टंकियों, फूलदानों व अन्य पानी के बर्तनों को  साफ करके सुखायें। नगर निगम आयुक्त राजेश खुल्लर ने बताया कि निगम के पास पांच सौ किलो यह लारवी साईड उपलब्ध है। शहरवासियों की मांग पर उन्हें यह नि:शुल्क भी दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एडीज मच्छर को रोका जाएगा लारवी साईड से