class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा समितियों की आधी सीटों पर होगा महिलाओं का कब्जा

राज्य में शिक्षा समितियों के चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। विभाग ने इसके लिए नियमावली तैयार कर राज्य निर्वाचन प्राधिकार को भेज दिया है। प्राधिकार ने शिक्षा विभाग को स्कूलों के पोषक क्षेत्रों के निर्धारण के लिए कहा है। पोषक क्षेत्रों का निर्धारण होते ही चुनाव की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। शिक्षा विभाग द्वारा तैयार की गई नियमावली के अनुसार सूबे के सभी विद्यालय शिक्षा समितियों में लगभग आधी सीटों पर महिलाओं का कब्जा होगा।

नियमावली में खास बात यह है कि किसी स्कूल की शिक्षा समिति में माता-पिता में से कोई एक ही सदस्य बन सकता है। माता-पिता सभा की निर्वाचक सूची से जिन नौ सदस्यों का चयन किया जाएगा उनमें चार स्थान महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगे। इनमें दो आरक्षित कोटि की और दो सीटें समान्य कोटि की महिलाओं के लिए होंगी। शेष पांच स्थानों के लिए महिला और पुरुष दोनों ही चुनाव लड़ सकते हैं।

एक स्थान अनुसूचित जाति, एक अनुसूचित जनजाति, एक पिछड़ा वर्ग और एक सीट अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित होगी। अनुसूचित जाति और जनजाति दोनों में से किसी एक के उम्मीदवार की अनुपलब्धता की स्थिति में सीटें दूसरी उपलब्ध कोटि के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित मानी जाएंगी। अगर दोनों कोटि के उम्मीदवार अनुपलब्ध पाये गये तो दोनों ही सीटें अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हो जाएंगी।

राज्य निर्वाचन प्राधिकार के अनुसार लगभग 50 हजार से अधिक शिक्षा समितियों के चुनाव की प्रक्रिया पैक्स चुनाव के समाप्त होते ही शुरू कर दी जाएगी। शर्त यह है कि इसके पहले शिक्षा विभाग स्कूलों के पोषक क्षेत्रों का निर्धारण कर दे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षा समितियों की आधी सीटों पर होगा महिलाओं का कब्जा