DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब नहीं रही आस्ट्रेलिया की बादशाहतः हसी

अब नहीं रही आस्ट्रेलिया की बादशाहतः हसी

इंग्लैंड के हाथों एशेज सीरीज में 1-2 से मिली हार के बाद अब आस्ट्रेलिया के मध्यक्रम के धुरंधर बल्लेबाज माइकल हसी भी मानने लगे हैं कि उनकी टीम दुनिया की नंबर एक टीम का रुतबा खो चुकी है।

लगातार हार और खराब प्रदर्शन के बाद एशेज हार के कारण आस्ट्रेलिया का पिछले 14 वर्षों से टेस्ट में शीर्ष स्थान पर बने रहने का रिकार्ड रविवार को समाप्त हो गया। हसी ने माना कि अब उनकी टीम में वो बात नहीं है जो ग्लेन मैक्ग्रा, एडम गिलक्रिस्ट, शेन वार्न जैसे दिग्गजों के रहते हुए हुआ करती थी।

हसी ने कहा कि मौजूदा आस्ट्रेलियाई टीम को यह मानना होगा कि अब वह दुनिया की श्रेष्ठ टीम नहीं हैं और इसे अपना पुराना रुतबा हासिल करने तथा अपने पूर्व दिग्गजों के समकक्ष पहुंचने में वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि अभी इस टीम को काफी मेहनत करने की जरूरत है। मुझे मानने में अब कोई झिझक नहीं है कि अब हम दुनिया की श्रेष्ठ टीम नहीं हैं और हमें इस बात को स्वीकार कर लेना चाहिए।

हालांकि हसी ने कहा कि एशेज सीरीज खिलाड़ियों को और ज्यादा मेहनत करने को प्रेरित करेगी ताकि वे वनडे और टी 20 सीरीज में पूरे जोश खरोश के साथ मैदान में उतर सके। उन्होंने कहा कि अभी हमारी टीम युवा है और पिछले कुछ समय में हमारे कई दिग्गज खिलाड़ियों ने संन्यास लिया है, इसलिए नए खिलाड़ियों को मेहनत करने की जरूरत तो है ही। हमें उम्मीद है कि वनडे सीरीज में हम एकजुट होकर खेलेंगे और जीतने में सफल होंगे।

हसी ने कहा कि एशेज वाकई हमारे लिए काफी कठिन रहा लेकिन हमें इससे काफी कुछ सीखने को मिला। मेरा तो यही मानना है कि हम एक बार फिर से श्रेष्ठ आस्ट्रेलियाई टीम बनने की दिशा में कदम बढ़ा चुके हैं। उन्होंने कहा कि एशेज में हार के बाद मैं काफी निराश था। आखिरी टेस्ट में हार के बाद मैं काफी भावुक हो गया था। मैं सबसे अंत में आउट हुआ था। ड्रेसिंग रूम में पैड उतारते समय मैं काफी भावुक था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब नहीं रही आस्ट्रेलिया की बादशाहतः हसी