DA Image
18 जनवरी, 2020|11:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालदीव और मृत सागर सात कुदरती अजूबों की होड़ में

मालदीव और मृत सागर सात कुदरती अजूबों की होड़ में

पश्चिम एशिया में इजरायल से जॉर्डन तक फैले मृत सागर और मालदीव के द्वीपों को दुनिया के सात कुदरती अजूबों के चुनाव के लिए 14 फाइनलिस्टों में चुना गया है।

सर्वाधिक घनत्व वाले लवणीय जल के इस समुद्री भाग के साथ अमेजन नदी, गालापैगास द्वीप, ग्राण्ड कैन्यान तथा ग्रेट बैरियर रीफ भी इस होड़ में शामिल हैं।

अन्य स्थलों में वेनेजुएला का एंजिल फॉल्स, कनाडा का बे ऑफ फंडी, इटली का विसुवियस ज्वालामुखी, विएतनाम की हेलांग बे, ब्राजील- अर्जेंटीना सीमा पर स्थित इगुआजु फॉल्स, इंडोनेशिया का कोमोदो नेशनल पार्क तथा फिलीपीन्स की पोतरे प्रिसिंया भूमिगत नदी शामिल हैं।

इजरायल, जॉर्डन एवं फिलस्तीनी नियंत्रण वाले पश्चिमी तट इलाके में फैले मृत सागर का नाम क्षेत्रीय राजनीति के कारण इस प्रतियोगिता से लगभग बाहर हो गया था, लेकिन अंतिम समय में तीनों सरकारों के बीच सहमति बन जाने के बाद यह 14 फाइनलिस्ट में अपनी जगह बना पाने में कामयाब रहा।

सात कुदरती अजूबों की इस प्रतियोगिता के अंतिम परिणाम 2011 में आएंगे। आयोजकों का अनुमान है कि तब तक एक अरब से ज्यादा लोग ऑनलाइन वोट कर चुके होंगे।

सात मानवनिर्मित आश्चर्च के जुलाई 2007 में घोषित नतीजों के मुताबिक दस करोड़ से ज्यादा लोगों ने वोट डाले थे।
 
मृत सागर में पानी में लवण की मात्रा इतनी अधिक है कि इसके कारण जल का घनत्व बहुत ज्यादा होने से मनुष्य उसमें डूबते नहीं हैं और किसी झूले की तरह बिना प्रयास तैरते रहते हैं या लेटे रहते हैं।

इसके जल में लवणों की मात्रा अधिक होने से इसे त्वचा रोगों में लाभदायक माना जाता है। पर्यटक इसकी मिट्टी को शरीर में लेप कर स्वास्थ्य लाभ लेते हैं।

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मालदीव और मृत सागर सात कुदरती अजूबों की होड़ में