DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनिल को पांच वोट दिलाने की हैसियत भी नहीं : श्याम

राजद के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता श्याम रजक एवं प्रांतीय महासचिव निहोरा प्रसाद यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव धर्मनिरपेक्षता बनाम सांप्रदायिकता और सामाजिक न्याय बनाम सामंती ताकतों के बीच होगा। उन्होंने कांग्रस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा को हैसियत में रहने की नसीहत देते हुए कहा है कि पांच वोट दिलाने की औकात भी उनको नहीं है। राजद की अपनी ताकत है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि जनाधार विहिन जिस व्यक्ित को एक बार चुनाव में 3200 वोट और दूसरी बार 2400 वोट मिले, उसे दूसर को नसीहत नहीं देनी चाहिए। अनिल शर्मा जिस सामाजिक पृष्ठभूमि से आते हैं उसका काम गरीबों का शोषण करना रहा है और इस शोषण के खिलाफ ही लालू प्रसाद की लड़ाई रही है। ऐसी स्थिति में श्री शर्मा जहां कहीं भी रहेंगे परोक्ष रूप से लालू प्रसाद पर चोट और टिप्पणी करते रहेंगे।ड्ढr ड्ढr श्री शर्मा स्वयं किसी राजनीतिक दल में स्थिर नहीं रहे हैं। कभी जनता पार्टी, कभी संजय विचार मंच, कभी जन आस्था और कभी स्व. राजीव गांधी के खिलाफ चलने वाले मुहिम में शामिल रहे हैं। श्री शर्मा लालू प्रसाद जैसे धर्मनिरपेक्ष के पहरुआ पर टिप्पणी करके परोक्ष रुप से एनडीए को मदद कर रहे हैं। वे भाजपा, आरएसएस और विश्व हिन्दु परिषद के राग में राग मिला रहे हैं। उनको भले लग रहा हो कि वे लालू प्रसाद के खिलाफ बयान दे रहे हैं मगर स्पष्ट है कि वे एनडीए को मदद पहुंचा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अनिल को पांच वोट दिलाने की हैसियत भी नहीं : श्याम