DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीरू को जेटली ने पिलाई घुट्टी

वीरू को जेटली ने पिलाई घुट्टी

विरेन्दर सहवाग ने दिल्ली क्रिकेट को सुधारने के लिए जो विद्रोह का बिगुल बजाया था, उसे दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने निष्पक्षता बढ़ाने और हस्तक्षेप कम करने के वादों की घुट्टी पिलाकर शांत कर दिया है। डीडीसीए अध्यक्ष अरुण जेटली ने यह घोषणा भी कर दी कि विरेन्दर सहवाग की नाराजगी दूर हो गई है और वे दिल्ली के लिए ही खेलेंगे। सूत्रों के अनुसार खुद को फंसता देख सहवाग अपने साथ पूर्व टेस्ट कप्तान मंसूर अली खां पटौदी को लेकर आए थे।

लेकिन फिर भी उन्हें वादों के अलावा कुछ नहीं मिला और उनका अभियान टांय-टांय फिस्स हो गया। सहवाग ने इस मुद्दे पर अपना साथ देने वाले रणजी चयन समिति के अध्यक्ष चेतन चौहान को भी किनारे कर दिया। खबर है कि चेतन को जूनियर क्रिकेट में धकलने पर सहमति बनी है। लेकिन सूत्रों के अनुसार सहवाग ने चयनकर्ताओं के अपने सुझए नामों में जो एक नाम लिया उस पर अधिकारी आश्चर्य में पड़ गए हैं। यह नाम है पूर्व तेज गेंदबाज रॉबिन सिंह जूनियर का।

पटौदी को क्रिकेट सलाहकार कमेटी बनाकर लाने की चर्चा हुई। जेटली ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि विवादास्पद स्पोर्ट्स कमेटी की ताकत किसी तरह से कम नहीं होगी। रणजी सहित विभिन्न आयु वर्ग की टीमों के लिए चयनकर्ताओं की सिफारिशों सहित स्पोर्ट्स कमेटी अपना काम पहले की तरह से ही करती रहेगी। बस उनसे यह उम्मीद की जाती है कि वे अच्छे पूर्व क्रिकेटरों के नाम बतौर चयनकर्ता सुझाएंगे। जिन व्यक्तियों के परिवार वाले या रिश्तेदार चयन के दावेदार होंगे उन्हें चयन समिति से दूर रखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वीरू को जेटली ने पिलाई घुट्टी