DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑक्सीजन बार

आपने रेस्तरां, काफी हाऊस, एयरपोर्ट में कई बार ऑक्सीजन बार के बारे में सुना होगा। लेकिन क्या आप वाकिफ हैं कि यह क्या होते हैं और कैसे काम करते हैं। ऑक्सीजन मानव जीवन के लिए जरूरी है। इसको कृत्रिम रूप से लेने का माध्यम ही ऑक्सीजन बार है। इसमें सांद्र ऑक्सीजन होती है, जिसे सांस लेने में काम लाते हैं। ऑक्सीजन बार का इस्तेमाल ज्यादातर लोग तनाव कम करने, थकान मिटाने हेतु करते हैं। लेकिन कभी-कभी इसका इस्तेमाल समुचित मात्रा में न करने से कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। मसलन फेफड़े, दिमागी परेशानी, मांसपेशियों की समस्या।

ऑक्सीजन बार का कंसेप्ट जपान में 1990 के दौरान आया था और धीरे-धीरे यह  पश्चिमी अमेरिका, मैक्सिको में प्रचलित हुआ। मेडिकल पेशेवरों को ऑक्सीजन थेरेपी की सलाह देती है, जिनके खून में ऑक्सीजन का संतृप्त लेवल कम होता है। इसके अलावा अस्थमा, हृदय रोग के मरीजों को इसके कम इस्तेमाल की सलाह दी जाती है।
ऑक्सीजन इनहेल करने के लिए वैसे तो कई विधियों का इस्तेमाल होता है, लेकिन इनमें से नेसल कैनुला खासी प्रचलित है। साथ ही कई ऑक्सीजन बार में एरोमा मिश्रित करने के साथ ऑक्सीजन दी जाती है। वातावरण में ऑक्सीजन 21 प्रतिशत, नाइट्रोजन 78 और शेष कार्बनडाइऑक्साइड होती है। विशेष रूप से डिजाइन किए गए ऑक्सीजन जेनरेटर के माध्यम से वातावरण से ऑक्सीजन इकट्ठी की जती है, जिसको बाद में परिष्कृत करके और पानी की वाष्प, एरोमा मिलाकर शुष्क ऑक्सीजन बनाई जाती है। जिसका इस्तेमाल ऑक्सीजन बार में होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऑक्सीजन बार