DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार लोन

आज के दौर में लोन मिलने की सहूलियत की वजह से कार लेना अब ज्यादा मुश्किल नहीं रह गया है। बैंक फिक्स्ड और फ्लोटिंग दोनों दरों पर कार लोन देते हैं। कार लोन लेने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

- कार लोन में पेपरवर्क कम करना पड़ता है।

- कार लोन की एप्लीकेशन प्रक्रिया में जिस बैंक से आप लोन ले रहे हैं, वह पूछताछ करता है, आपको आवश्यक डाक्यमेंट्स जमा करने पड़ते हैं। इसके बाद बैंक की तरफ से कोई प्रतिनिधि जांच करने आता है। इसके बाद आपका लोन पास हो जाता है

- बतौर डाक्यमेंट्स आपको आइडेंटिटी प्रूफ, आय का प्रमाण और मकान का पता जसे जरूरी कागजात जमा कराने होते हैं। हालांकि कागजत की संख्या कंपनी और बैंक पर निर्भर करती है।

- वर्तमान में कंपनियां फिक्स्ड और फ्लोटिंग दोनों दरों पर लोन मुहैया कराती हैं। पहले  कंपनियां फिक्स्ड रेट पर ही लोन देती थीं।

- मौजूदा समय में लोन लेने के लिए बैंक या कंपनी का चयन करते समय ये देखना जरूरी है कि कौन कितनी कम ब्याज दर पर लोन दे रहा है।

- कार लोन लेते समय फिक्स्ड रेट पर ही लोन लेना बेहतर तरीका होगा। इससे आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग को भी मजूबती मिलेगी। कार के फ्लोटिंग रेट और फिक्स्ड रेट में 50 बेसिस प्वाइंट का अंतर होता है।

- एक-दो पब्लिक सेक्टर बैंकों को छोड़कर तकरीबन सभी बैंक 9.5-10.5 प्रतिशत की ब्याज दर पर लोन दे रहे हैं, तो वहीं प्राइवेट 12-14 प्रतिशत की दर पर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कार लोन