DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिल्क सब्सिडी का फैसला

दुग्ध उत्पादकों को प्रोत्साहित करने के लिए डेयरी विभाग ने मिल्क सब्सिडी देने का फैसला लिया गया है। इसके लिए विभाग की ओर से 50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।


उपायुक्त राजेन्द्र कटारिया ने बताया कि डेयरी क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए विभाग की ओर से एक्शन प्लान तैयार कर लिया गया है। आगामी वर्षो में सहकारी संस्थाओं और दूध खरीद-बिक्री के कारोबार में 100 प्रतिशत वृद्धि का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि दुग्ध समितियों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए महिला सहकारी समितियां भी गठित की गई हैँ। उपायुक्त ने बताया कि फिलहाल जिले में 20 राजकीय पशु चिकित्सालय, 45 पशु औषधालय, तीन पॉल्ट्री विस्तार केन्द्र, पिगरी विस्तार केन्द्र, भेड़ व ऊन विस्तार केन्द्र, डायगोस्टिक लैब एवं फ्रॉजन सीमन बैंक कार्यरत हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिल्क सब्सिडी का फैसला