DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उक्रांद के नेता जिलाधिकारी को मिलकर ज्ञापन दिए

पृथक प्रदेश के आंदोलन में शामिल रहे उक्रांद के जिला स्तर के नेताओं ने जिलाधिकारी से भेंट कर आंदोलनकारियों के चिन्हींकरण में आ रही विसंगतियों की ओर उनका ध्यान दिलाया। उक्रांद नेताओं ने जिलाधिकारी के माध्यम से सीएम को एक ज्ञापन भी सौपा।

जिलाधिकारी को बताया गया कि दो अगस्त 1994 में जो आमरण अनशन शुरु किया गया था, उससे प्रेरित हो कर पूरे जिले में जगह-जगह आमरण अनशन शुरु किये गये थे। पौड़ी में भी चार चरणों में अनशन किया गया था, जिसमें अनशन पर बैठने वालों में से सात व्यक्तियों को चयनित कर दिया गया, लेकिन शेष अनशनकारियों को छोड़ दिया गया है।

उक्रांद नेताओं ने यह भी मांग की कि आंदोलनकारियों की चयन प्रक्रिया को पूरा करने के लिये जिला कार्यालय में विशेष कर्मचारियों की तैनाती की जाए, ताकि इस महत्वपूर्ण कार्य को शीघ्र पूरा किया जा सके।

जिलाधिकारी ने उक्रांद नेताओं को बताया कि आंदोलनकारियों के चयन के लिये आवेदन करने वाले 31 अगस्त को जिला कार्यालय में इस बात की तस्दीक कर सकते है कि किन कारणों से चयन नहीं हो पाया। यदि वे उसकी औपचारिकता को पूर्ण कर सकते हों तो वे अपने आवेदन पत्र को पूर्ण कर फिर से जमा करा सकते है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उक्रांद के नेता जिलाधिकारी को मिलकर ज्ञापन दिए