DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एड्स पीडि़त बच्चे को स्कूल से बाहर किया

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में एड्स से ग्रस्त एक बच्चे को अपने भाई बहन के साथ उस स्कूल से बाहर कर दिया जहां वह पढ़ाई कर रहा था।
 
जिले की बारा तहसील के बेलामंडी गांव के प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे एड्सग्रस्त बालक अंशु (08) और उसके भाईबहन आशीष (04) तथा संध्या (07) को गांववालों ने स्कूल जाने से रुकवा दिया जबकि आशीष और संध्या में एड्स का कोई लक्षण नहीं पाया गया।
 
जिला मुख्यालय से 50 किमी. दूर इस गांव में घटे इस घटनाक्रम से सामाजिक विवाद खड़ा हो गया है। जिले के अधिकारी डाक्टर और सामाजिक संगठन गांव वालों की आशंकाओं और डर को दूर करने की हर कोशिश कर रहे हैं लेकिन स्थानीय दबाव के चलते प्रधानाध्यापक राघवेन्द्र त्रिपाठी को बच्चों को स्कूल नहीं आने के लिए कहना पड़ा।

 
जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी बृजेश मिश्र खुद इस छोटे से गांव में गए और उन्होंने आन्दोलित ग्रामीणों को समझने और शांत करने की हर सम्भव कोशिश की लेकिन उन्होंने एड्स ग्रस्त बच्चे और उसके भाई बहन के साथ अपने बच्चों को पढ़ाने से इन्कार कर दिया।
 
जिलाधिकारी राजीव अग्रवाल ने बताया कि यह एक सामाजिक मुद्दा है जिसने अशिक्षा के चलते सिर उठाया है। अंशु और उसके भाई बहन का नाम स्कूल के रजिस्टर में तो लिखा है लेकिन गांववालों के दबाव के कारण उनसे स्कूल नहीं आने के लिए कहा गया है।
 
उन्होंने कहा कि गांववालों को जागरुक बनाने के लिए वहां एक चिकित्सा दल भेजा गया है तथा लोगों को समझने के लिए गैर सरकारी संगठनों के सदस्य वहां पहले से ही मौजूद हैं। यह मामला बहुत संवेदनशील है लेकिन प्रशासन को उम्मीद है कि सब कुछ ठीक हो जाएगा और अंशु तथा उसके भाई बहन फिर से स्कूल जा सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एड्स पीडि़त बच्चे को स्कूल से बाहर किया