DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटा टी का खिलाना बंद पिलाना शुरू अभियान

टाटा टी का खिलाना बंद पिलाना शुरू अभियान

टाटा समूह की कंपनी टाटा टी ने अपने वाणिज्य और जनसेवा के मिलेजुले कलेवर वाले अभियान जागो रे के तहत वोट नहीं कर रहे हो तो सो रहे हो के बाद अब "आज से खिलाना बंद पिलाना शुरू" का नारा शुरू किया है।

इस नारे में खिलाने से मतलब रिश्वत देने और पिलाने से मतलब टाटा चाय पिलाने से है। टाटा टी की कार्यकारी निदेशक संगीता तलवार ने मंगलवार को इस अभियान का अनावरण करते हुए संवाददाताओं से कहा कि आज देश भर में स्वाइन फ्लू का प्रकोप छाया हुआ है, लेकिन एक फ्लू ऐसा है जिससे देश की 50 फीसद से ज्यादा आबादी प्रभावित है। यह है करप्शन फ्लू यानी भ्रष्टाचार का जुकाम।

तलवार ने कहा कि इस अभियान के तहत हम देश में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम चलाएंगे। उन्होंने कहा, यहां खिलाना बंद से अभिप्राय रिश्वत देना बंद करना और पिलाना शुरू से मतलब टाटा टी पिलाने से है।

उन्होंने कहा कि पहली सितंबर से जागो रे डाट काम पर भ्रष्टाचार के खिलाफ आनलाइन मुहिम शुरू की जाएगी। इसमें लोगों से इंटरनेट पर यह प्रतिबद्धता जताने को कहा जाएगा कि वे आज से रिश्वत नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा मोबाइल पर भी यह अभियान चलाया जाएगा।

साथ ही देशभर में 70,000 से ज्यादा दुकानों के जरिये भी यह अभियान चलाया जाएगा, जहां खासकर युवाओं से अपने हस्ताक्षर कर भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रतिबद्धता जताने को कहा जाएगा।

जल्द ही टाटा टी का यह नया जागो रे अभियान टीवी पर आना शुरू होगा। कंपनी ने कहा है कि इस अभियान के लिए वह टाटा टी के चार ब्रांड के प्रचार की राशि के कुछ हिस्से का इस्तेमाल करेगी। अभियान पर खर्च के बारे में कुछ कहने से इनकार करते हुए तलवार ने कहा कि हम पिछले दो वर्षों की तुलना में इस बार हम ज्यादा राशि इस अभियान पर खर्च करेंगे।

इसके अलावा टाटा टी तिमाही आधार पर जागो रे करप्शन इंडेक्स भी लाएगी। इसके आधार पर भ्रष्टाचार पर लोगों की सोच का मूल्यांकन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टाटा टी का खिलाना बंद पिलाना शुरू अभियान