DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखे और बाढ़ दोनो से निपटने में सरकार फेल: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश में प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) ने राज्य सरकार को सूखे और बाढ़ दोनो से निपटने में असफल बताते हुए आरोप लगाया है कि मायावती सरकार ने पीडि़तो को भगवान भरोसे सौंप दिया है।
 
सपा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव और विधान सभा में नेता विपक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मंगलवार को संवाददाताओ से कहा कि राज्य की जनता पहले ही सूखे से परेशान थी और अब बाढ़ ने घेर लिया है। इन दोनो प्राकृतिक आपदाओं से निपटने में राज्य सरकार पूरी तरह असफल रही।
 
उन्होंने कहा कि संवेदनहीनता का यह आलम है कि अभी तक बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो का दौरा करने न ही मुख्यमंत्री गई और न ही अपने किसी मंत्री को इन क्षेत्रो में भेजा है।
 नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश में सूखा संकट के बाद बाढ़ से स्थिति गम्भीर हो गई है और 780 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि में फसल नष्ट हो गई। बाढ़ से 14 जनपद प्रभावित हैं और 12 हजार गांव बाढ़ की चपेट में हैं। सैकड़ों जाने गई। पशुओं के लिए चारा संकट पैदा हो गया है।
 
उन्होंने कहा कि राप्ती,गोमती, शारदा,सरयू,नारायणी और घाघरा नदियॉं उफान पर हैं। तटबन्धों पर खुले आसमान के नीचे लोगों ने शरण ले रखी हैं। लगातार हो रही वर्षा से बाढ़ पीडि़तों की मुश्किलें बढ़ी हैं। पीडि़तों को राहत पहुंचाने में सरकार निष्क्रिय है।
मुख्यमंत्री सूखा हो या बाढ़ बस प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखने लगती हैं और अपनी झोली भरने के लिए राहत पैकेज की मांग करने लगती हैं। आपदाओं के समय मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव स्वयं संसाधन जुटाकर समस्याओं से निबटते थे।
 
अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि विधान सभा के उपचुनावों में चुनाव आयोग के प्रेक्षक सत्ताधारी दल के दबाव में रहे। मतदाताओं को प्रलोभन के साथ धमकियां भी दी गई।जिलाधिकारियों को पहले ही चुनाव जितवाने के निर्देश जारी किए गए थे। लोकसभा चुनावों में जहॉ बसपा हारी वहां के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक हटा दिए गए और महत्वहीन पदों पर भेज दिए गए। ए चुनाव मतदाताओं के साथ छल से जीते गए।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के मतदाताओं को रोका गया। सरकारी साधनों का दुरुपयोग हुआ। लोकतंत्र बुरी तरह आहत हुआ। समाजवादी पार्टी अगले उपचुनावों में पूरी शक्ति लगाएगी। राज्य सरकार और मंहगाई, बेकारी के खिलाफ आगामी 19 से 23 जनवरी तक जबरदस्त आन्दोलन चलाया जाएगा। समाजवादी पार्टी सूखा व बाढ पीडि़त जनता की कठिनाईयों को समझती है और उनके प्रति पूरी सहानुभूति जताते हुए प्रदेश के राज्यपाल से मांग करती है कि वे प्रदेश सरकार को फौरन युद्ध स्तर पर राहत कार्य शुरू करने को निर्देशित करें तथा सभी तरह की वसूली एवं किसानों . ग्रामीणों का उत्पीड़न बन्द कराएं। किसानों के कर्जे माफ किए जाएं। सूखा और बाढ़ की क्षति का तुरन्त आकलन कर पीडितों को जरूरी मदद दी जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूखे और बाढ़ दोनो से निपटने में सरकार फेल: अखिलेश