DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ताकि पता चले कोडवर्ड वाली भाषा

ताकि पता चले कोडवर्ड वाली भाषा

चैटिंग हो या ई-मेल, या फिर सामान्य बातचीत ही क्यों न हो, टीनएजर्स से लेकर बच्चे तक भी ऐसी कोडवर्ड वाली इंग्लिश का इस्तेमाल करते हैं, जो अभिभावकों के पल्ले नहीं पड़ती। अभिभावकों की इसी समस्या को सुलझने के लिए एक खास वेबसाइट की मदद ली जा सकती है।

इंटरनेट के इस जमाने में इसके साथ कदम-से-कदम मिलाकर चलने में किशोर और युवा अपने अभिभावकों से कहीं आगे हैं। अब तो बच्चे भी कंप्यूटर और इंटरनेट के मामले में अपने अभिभावकों को पीछे छोड़ते नजर आने लगे हैं। असल में तकनीकी बातों में दिलचस्पी के कारण न सिर्फ वे किसी चीज को जल्दी सीख जाते हैं, बल्कि उनकी भाषा भी ऐसी हो जाती है, जो अभिभावकों की समझ से परे होती है। वैसे तो चैटिंग और ई-मेल में तो शब्दों के शॉर्ट फॉर्म का इस्तेमाल किया ही जाता है, आम बोलचाल में उनके द्वारा जिस कोडवर्ड वाली अंग्रेजी भाषा, यानी "टिंग्लिश"का इस्तेमाल किया जाता है, उसे समझना आसान नहीं। ऐसे में अभिभावक अपने बच्चों की इंटरनेट की दुनिया पर सही ढंग से नजर नहीं रख पाते हैं। उनकी इसी समस्या को दूर करने आई है टिंग्लिश को समझने वाली एक वेबसाइट। 

www.gotateenager.org.uk नामक इस वेबसाइट पर किशोरों की ऐसी भाषा की विस्तृत व्याख्या है। अन्य बातों के अलावा इसमें करीब 100 से भी अधिक शब्दों के बारे में बताया गया है, जिन्हें वे इस्तेमाल करते हैं, पर उनके अभिभावक उनको समझ नहीं पाते। ऐसे में एक दूरी सी बनने लगती है, जो न तो बच्चों के लिए और न ही उनके माता-पिता के लिए अच्छी लगती है। आइए अब नजर डालते हैं ऐसे ही कुछ शब्दों पर, जैसे bluds(friends),rents(parents),buff(attractive),bait(obvious),butterrs(ugly) आदि। इसके अलावा इसमें उनके वाक्य विन्यास के बारे में भी जानकारी दी गई है।

इस वेबसाइट को तैयार किया है ब्रिटिश कंपनी पेरेंटलाइन प्लस ने। इसे बनाने से पहले तमाम किशोरों और उनके अभिभावकों से इस संबंध में बात की गई और उनकी बातचीत के स्टाइल को जानने-समझने की कोशिश की गई। इस पूरे सर्वे के बाद सबसे पहले 96 ऐसे शब्दों की सूची बनाई गई। निकोलमैन, जिन्होंने इस वेबसाइट को तैयार करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है, उनका कहना है, ‘ऐसे शब्दों की सही जानकारी से अभिभावकों को अपने बच्चों की भाषा और व्यवहार को समझने में काफी मदद मिलेगी, जो बच्चों के बेहतर विकास के लिए निश्चय ही जरूरी है।’

                          

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ताकि पता चले कोडवर्ड वाली भाषा