DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड का कालाढूंगी बना काला धब्बा

शांति और प्रेम के लिये पूरे देश में प्रसिद्ध पर्वतीय राज्य उत्तराखंड में कालाढूंगी में कानून को हाथ में लेकर पुलिसकर्मी की हत्या करना और कई को घायल कर देना एक काला धब्बा बन गया है।
    
इस घटना के बाद जहां कालाढूंगी के आम लोग भयग्रस्त हैं और उन्हें भविष्य में फिर हिंसा डर सता रहा है। कालाढूंगी के 76 वर्षीय बुजुर्ग रमेन्द्र कुमार चौहान ने बताया कि उन्होंने ऐसा मंजर अपने जीवन मे कभी नही देखा। जिस तरह से लोगों ने पूरे इलाके में उत्पात मचाया, उससे यह नहीं लगता है कि ये लोग कालाढूंगी के ही रहने वाले थे। राजनीतिक महत्वाकांक्षा को सभी खुराफात की जड़ बताते हुए चौहान ने कहा कि कालाढूंगी पूरे इलाके में एक शांतिप्रिय और सदभावना वाला इलाका जाना जाता है, लेकिन यह घटना एक काला धब्बा है। उत्तराखंड के नैनीताल जिले के कालाढूंगी में गत शनिवार को भाजपा नेता और ब्लाक प्रमुख बलवंत सिंह कान्याल की थाने परिसर में हुई जान्य हत्या के बाद लोगों ने थाने में आग लगा दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तराखंड का कालाढूंगी बना काला धब्बा