DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमिताभ ला रहे हैं बच्चन जी की कविताओं का संकलन

अमिताभ ला रहे हैं बच्चन जी की कविताओं का संकलन

लोगों ने अमिताभ बच्चन को स्टेज पर बाबू जी यानी हरिवंश राय बच्चन की कविताओं का पाठ करते हुए सुना होगा, लेकिन अब लोग अमिताभ बच्चन की पसंद की हरिवंश राय बच्चन की कविताएं पढ़ सकेंगे।

त्रनपीठ के कार्यकारी निदेशक रवींद्र कालिया ने कहा कि इस किताब में अमिताभ बच्चन ने अपने पिता और हालावाद के प्रवर्तक हरिवंश राय बच्चन की अपनी पसंदीदा कविताओं का संकलन किया है, इस किताब में कविताएं स्वयं अमिताभ ने चुनी है और इस किताब की भूमिका और कुछ संस्मरण स्वयं अमिताभ बच्चन द्वारा लिखे गये है।

कालिया ने बताया कि त्रनपीठ द्वारा इस किताब का प्रकाशन किया जा रहा है और किताब का संपादन हिन्दी की साहित्यकार पुष्पा भारती ने किया है। अमिताभ बच्चन शीर्षक की इस किताब का विमोचन 27 नवंबर को बाबूजी की 102वीं जयंती पर मुंबई में किया जायेगा।

बच्चन परिवार की पारिवारिक मित्र पुष्पाजी ने बताया कि बच्चन जी ने अपनी आत्मकथा के रुप में लिखा है, कि उनके पिता को हमेशा इस बात का अफसोस रहा कि, वे अपने पिता की सेवा नहीं कर सके और जिस प्रकार अमिताभ ने उनकी सेवा की उससे उन्हें लगता था कि उनके पिता ने ही अमिताभ के रूप में जन्म लिया है।

एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि जिस रूचि और तन्मयता से अमिताभ बच्चन अपने बाबूजी की कविताओं का मंच पर पाठ करते हैं, उसी को मद्देनजर हमने अमिताभ बच्चन की पसंदीदा कविताओं का संकलन लाने का विचार किया।

पुष्पाजी ने बताया कि इससे पहले अमिताभ के 60 साल के होने के मौके पर 60 गीत रत्न पुस्तक में बाबूजी के 60 गीतों का संग्रह उन्होंने संपादित किया था। इसमें बच्चन जी के कुछ लोकप्रिय लोकगीत भी शामिल किए गए थे। उन्होंने बताया कि उस वक्त बच्चन जी काफी बीमार चल रहे थे और उन्होंने उस संकलन को काफी पसंद किया था।

इस किताब में बच्चन जी पर अमिताभ का आजकल के लिए लिया गया विस्तृत साक्षात्कार और कुछ संस्मरण भी शामिल हैं। इसके अलावा इस किताब की भूमिका स्वयं अमिताभ बच्चन ने लिखी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमिताभ ला रहे हैं बच्चन जी की कविताओं का संकलन