DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत का ऐलान, नहीं बनने देंगे कमेला

ग्राम घोसीपुर में कमेला बनाने को लेकर घोसीपुर व आसपास के गांव एकजुट हो गए हैं। रविवार को तराबीह के बाद घोसीपुर में ग्रामीणों ने पंचायत की ओर ऐलान किया कि किसी भी सूरत में कमेला नहीं बनने देंगे। ग्रामीणों ने कहा कि निगम ने यदि घोसीपुर में ऐसा कोई प्रयास किया तो ग्रामीण उसका तीव्र वरोध करेंगे।

कमेले की घोषणा के बाद घोसीपुर में सक्रियता बढ़ गई है। पूर्व प्रमुख अनवार के नेतृत्व में रविवार को तराबीह के बाद इस मामले में ग्रामीणों ने एक पंचायत की। पंचायत में निगम के घोसीपुर में तत्काल कटान करने के आदेश पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त की गई। ग्रामीणों ने कहा कि सरकार ग्रामीणों के पेट पर लात मारने का प्रयास कर रही है। कमेला कारोबार से जुड़े कुछ लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए हजारों किसानों को बर्बाद किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जिस गंदगी से पूरा शहर परेशान है उसे घोसीपुर में स्थानांतरित कर दजर्नों गांवों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। ग्रामीणों ने एक सुर में कमेले का विरोध करने का निर्णय लिया। ग्रामीणों ने कहा कि किसी भी कीमत पर कमेला शुरू नहीं होने दिया जाएगा। जो भी निगम अधिकारी यहां कमेले का निर्माण करने आएगा उसे ग्रामीण नहीं बख्शेंगे। ग्रामीणों के इस रुख पर निगम व प्रशासनिक अधिकारियों के चेहरे पर चिंता की लकीरें हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचायत का ऐलान, नहीं बनने देंगे कमेला