class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व रक्षा सचिव विजय सिंह के खिलाफ जमानती वारंट

कोर्ट के आदेश की अवमानना करने पर पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने पूर्व रक्षा सचिव विजय सिंह और सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के अफसर के खिलाफ जमानती वारंट जारी कर दिए हैं। कोर्ट ने इस मामले में मौजूदा रक्षा सचिव को भी 15 सितंबर को कोर्ट में तलब किया है।  

सेना के एक सिपाही विक्रम सिंह नेगी को सेना से निकाल दिया गया था। नेगी ने इस फैसले को कोर्ट में चुनौती दी। अपनी याचिका में जवान ने कहा है कि वह 64 एसाल्ट इंजीनियर रेजीमेंट पटियाला में नियुक्त था उसे एक एक दिन कार्यवाहक बिग्रेड कमांडर ने 2004 में कारण बताओ नोटिस जारी करके नौकरी से निकाल दिया। उसे अंग्रेजी में नोटिस की कापी दी गई थी जबकि वह उस भाषा को अच्छे से समझता भी नहीं है। उसे 31 मार्च 2004 को नौकरी से निकालने के आदेश दिए गए।

उसका कसूर इतना था कि वह उसे छुट्टियों से आने में देरी हो गई थी लेकिन इसका कारण भी जानने की अफसरों ने कोई कोशिश नहीं की। अवकाश से आते समय दिल्ली रेलवे स्टेशन पर कुछ लोगों ने लूटने के उद्देश्य से उस हमला कर दिया जिससे उसके सिर पर 20 टांके आए थे। बेहोशी की हालत में वह लेडी श्रीराम अस्पताल में लोगों ने उसे भरती कराया। जिसका सबूत उसने सेना को दिया। उसने सेना के फैसले को पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट में 2005 में चुनौती दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व रक्षा सचिव विजय सिंह के खिलाफ जमानती वारंट