DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टी 90 टैंकों की पहली खेप सेना को सौंपी गई

टी 90 टैंकों की पहली खेप सेना को सौंपी गई

परमाणु हमले से बचाव में सक्षम स्वदेश निर्मित मुख्य युद्धक टैंक टी 90 की पहली खेप सोमवार को सेना को सौंपी गई।

इस खेप में दस टैंक शामिल हैं। प्रत्येक टैंक के निर्माण पर 14-15 करोड़ रुपए की लागत आई है। रक्षा राज्यमंत्री एमएम पी राजू ने इन्हें सेना के हवाले किया। इन्हें हैवी व्हीकल फैक्ट्री (एचवीएफ) में तैयार किया गया है। एचवीएफ की प्रतिवर्ष 100 टैंक बनाने की योजना है।

भारतीय सेना के अग्रिम मोर्चें पर इस तरह के लगभग 700 टैंक पहले ही तैनात हैं। सेना ने 400 और टैंकों के निर्माण का अनुबंध किया है। स्वेदश निर्मित टी 90 टैंक फॉयर गाइडेड मिसाइल से सुसज्जित हैं। इसमें परम्परागत गोला बारूद का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इनके लिए तोप की एक की नली का प्रयोग किया जाता है। कम्प्यूटरीकत टी 90 टैंक फॉयर गाइडेड मिसाइल और परम्परागत गोला बारूद को उसके सटीक निशाने तक पहुंचाने में सक्षम हैं।

रक्षा राज्यमंत्री एम एम पी राजू ने कहा कि टी 90 टैंक भारतीय सेना के लिए मील का पत्थर हैं। यह टी 90 टैंकों को स्वदेश में निर्मित करने की दिशा में एक कदम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टी 90 टैंकों की पहली खेप सेना को सौंपी गई