DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व मंत्री से हुई लंबी पूछताछ

आय से अधिक संपत्ति अजिर्त करने के आरोपी पूर्व मंत्री हरिनारायण राय को दो दिनों के रिमांड पर लेने के बाद सोमवार को उनसे लंबी पूछताछ हुई। राय से निगरानी ब्यूरो के आइजी एमवी राव, एसपी उमेश कुमार सिंह और कांड के अनुसंधानक एएसपी भोलानाथ सरकार ने पूछताछ की। हरिनारायण राय बीमार हैं और ज्यादातर सवालों के जवाब ‘ना’ में देना ही बेहतर समझ रहे थे। कई सवाल टाल गए। अधिकांश संपत्ति को भतीजा, भाई और पत्नी का बता दिया। राय की पत्नी के नाम भी ठेका कंपनी है। उन्होंने बताया कि ठेका कंपनी से आमदनी हुई है। पत्नी ही बता सकती है कि कंपनी ने कितना लाभ कमाया है।

रांची के मकान और देवघर व अन्य शहरों में भूखंड के बाबत पूछे जाने पर राय ने कुछ को स्वीकारा और कुछ के बारे में अनभिज्ञता जाहिर कर दी। करीब चार घंटे तक राय से लंबी पूछताछ हुई। बैंक एकाउंट्स के बारे में उन्होंने कहा कि दो-तीन बैंकों में एकाउंट हैं, लेकिन कितना पैसा जमा है, याद नहीं। राय अभी न्यायिक हिरासत में हैं। उनसे जब यह पूछा गया कि मंत्री रहते हुए गैरकानूनी ढंग से किन ठेका कंपनी, अभियंता और दलालों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की?

इस पर राय ने कहा कि कोई काम गैरकानूनी नहीं हुआ था और न ही उन्होंने दलाल छोड़ रखे थे। सब मीडिया का करा-धरा है। देवघर में एक सरकारी जमीन पर तालाब खुदवाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सब कुछ प्रक्रिया के तहत हुआ है और इसका जवाब डीसी देंगे। निगरानी के अधिकारियों ने राय की करीब तीन करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का पता लगाया है। चाजर्शीट के लिए यह काफी है। राय से 25 अगस्त को भी पूछताछ होगी। सोमवार को पूछताछ के बाद उन्हें केंद्रीय कारा भेज दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व मंत्री से हुई लंबी पूछताछ