DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलित छात्रों के उत्पीड़न पर की कार्रवाई

एमबीए की पढ़ाई कर रहे अनुसूचित जाति के छात्रों के उत्पीड़न के मामले में प्रशासन ने आईपीईएम कॉलेज मैनेजमेंट के खिलाफ कड़ा रुख अपना लिया है। समाज कल्याण अधिकारी से जांच कराए जाने के बाद संस्थान के डायरेक्टर एसएस मल्होत्रा पर दलित उत्पीड़न के आरोप में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। अफसरों का कहना है कि पुलिस एनक्वाइरी में आरोप सही पाए जाने पर गिरफ्तारी की कार्रवाई भी की जाएगी।

अफसरों के मुताबिक, समाज कल्याण अधिकार संजीव नयन मिश्रा की तहरीर पर विजयनगर पुलिस ने एससी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। अब इस मामले की तफ्तीश सीओ करेंगे। मुख्य विकास अधिकारी जुहैर बिन सगीर ने इस कार्रवाई के बारे में बताया कि आईपीईएम कालेज में एमबीए द्वितीय वर्ष के स्टूडेंट तरुण कुमार, लाल चंद्र, प्रदीप कुमार, सुनील कुमार, ब्रिजेश कुमार, संदीप कुमार, भरत कुमार कुछ दिन पहले उनसे आकर मिले थे और कॉलेज प्रबंधन पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे।

छात्रों का कहना था कि फीस जमा न किए जाने पर प्रबंधन उनको क्लास में बैठने की अनुमति नहीं दे रहा। उनको पूरी फीस जमा करने के लिए बाध्य किया जा रहा है। सीडीओ के मुताबिक, सभी छात्र अनुसूचित जाति से सम्बंध रखते हैं। ऐसे छात्रों के सम्बंध में यूपीटीयू और शासन के स्पष्ट निर्देश हैं कि उनको निशुल्क प्रवेश दिया जाए। फीस की प्रतिपूर्ति बाद में शासन समाज कल्याण विभाग के माध्यम से कराता है।

इसके बाद भी मैनेजमेंट फीस जमा कराने पर अड़ा था। छात्रों को संस्थान से नाम काटने तक की लिखित धमकी दे दी थी।
बकौल सीडीओ, मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत ही समाज कल्याण अधिकारी को जांच के लिए संस्थान भेज दिया। डायरेक्टर एसएस मल्होत्रा से फोन पर भी बात की गई। उन्होंने सही जवाब नहीं दिया। यह और कह दिया कि बिना पैसे के हमारा कॉलेज कैसे चल सकता है।

समाज कल्याण अधिकारी एसएन मिश्रा की प्रारंभिक जांच में आरोपों की पुष्टि हो गई। इसके बाद उन्होंने विजयनगर थाने में आईपीईएम के डायरेक्टर एसएस मल्होत्रा के खिलाफ दलित उत्पीड़न अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज करा दी। अब आगे की कार्रवाई पुलिस स्तर से होगी।

उधर कॉलेज प्रबंधन की तरफ से अमित शिशौदिया का कहना है कि कॉलेज ने कभी भी छात्रों को नोटिस जारी नहीं किया और किसी छात्र को क्लास में जाने से नहीं रोका गया। कॉलेज प्रबंधन को एफआईआर की जानकारी मिली है और वे मामला देख रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दलित छात्रों के उत्पीड़न पर की कार्रवाई