DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल को लेकर कचहरी में चर्चाओं का दौर

वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट बैंच के आंदोलन के तूल पकड़ने से एक नई चर्चा शुरू हो गई है। पूर्व में हुई बेमियादी हड़तालों को देखते हुए इस बार भी हड़ताल को लेकर चर्चाओं का दौर गर्म हो गया है। वकीलों को आशंका है कि सितंबर में वेस्ट यूपी बंद के बाद बेमियादी हड़ताल का ऐलान हो सकता है।

हाईकोर्ट बैंच की केंद्रीय संघर्ष समिति की 22 अगस्त की बैठक में उग्र आंदोलन का ऐलान हो गया। इसके बाद से ही कचहरी में हड़ताल के मुद्दे पर चर्चाओं का दौर चल रहा है। सोमवार को कचहरी में वकील हड़ताल के मुद्दे पर ही चर्चा करते रहे। कचहरी में वादकारियों की भीड़ भी कम दिखाई दी। वकीलों को पुराने आंदोलन की तर्ज पर बेमियादी हड़ताल की आशंका बनी हुई है।

वकीलों का कहना है कि 2001 में आंदोलन इतना उग्र हो गया था कि करीब पांच माह तक वेस्ट यूपी की सभी अदालतों में वकीलों ने हड़ताल रखी थी। इस बार भी 17 सितंबर को वेस्ट यूपी बंद के बाद 19 सितंबर की नोएडा में होने वाली बैठक में इसका ऐलान होने की संभावना है।

वकील भी हाईकोर्ट बैंच के मुद्दे पर आर-पार की लड़ाई की तैयारी कर रहे हैं। वकीलों का कहना है कि फिलहाल लोगों को एकजुट किया जा रहा है। हड़ताल की तैयारियों के मद्देनजर वकील भी अपने काम निपटाने में लगे हैं, ताकि हड़ताल के दौरान किसी प्रकार की समस्या ना रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल को लेकर कचहरी में चर्चाओं का दौर