DA Image
28 जनवरी, 2020|3:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीण महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सरकार प्रयत्नशील

प्रदेश के कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान मंत्री राजपाल त्यागी ने कहा कि सरकार ग्रामीण महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए लगातार प्रयत्नशील है। जननी सुरक्षा योजना और संस्थागत प्रसव में बेहतर रिजल्ट इसी का नतीजा है।

इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत आशा का योगदान बहुत महत्वपूर्ण है। आशा जितना लगनशील होंगी, ग्रामीण स्वास्थ्य उतना ही बेहतर होगा। यह विचार मंत्री ने राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन की ओर से आयोजित आशा सम्मेलन में रखे।

कृषि मंत्री ने कहा कि गरीब महिलाओं के दरवाजे तक स्वास्थ्य सेवा पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। इसके लिए एएनएम, आंगनबाड़ी और आशा की मदद ली जा रही है। कोशिश की जा रही है, कि हर जच्चा-बच्चा सुरक्षित हो। प्रदेश सरकार का उद्देश्य सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय है। इस अवसर पर डीएम आर.रमेश कुमार ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं की स्वास्थ्य सेवा के लिए अब हर ग्राम में स्वास्थ्य उपकेंद्र खोले जाएंगे।

वर्तमान में जनपद में 75 उपकेंद्र हैं। डीएम ने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को और प्रभावशाली बनाया जाएगा। इन केद्रों पर दवा की उपलब्धता और उपकरण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। डॉक्टरों की कमी को भी दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

आशा सम्मेलन में सीएमओ डा.ए.के.धवन अपने विभाग की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि जननी सुरक्षा योजना और संस्थागत प्रसव योजना में आशा का काफी योगदान रहा। उन्होंने कहा कि आशा ग्रामीण स्वास्थ्य व्यवस्था की नींव होती है। सरकार की ओर से चलाए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की जिम्मेदारी आशा पर ही टिकी होती है।

इस अवसर पर कृषि मंत्री राजपाल त्यागी ने जनपद में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 24 आशा को पुरस्कार दिया। जनपद की आठ आशा को प्रथम पुरस्कार के रूप में पांच हजार का चेक दिया गया। कार्यक्रम में अपर निदेशक मेरठ मंडल सीएम मावर, यूपी आशा कार्डिनेटर हरिओम दीक्षित, जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई के मैनेजर मनीष सोनी भी मौजूद थे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ग्रामीण महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सरकार प्रयत्नशील