DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्रवाई बिना सार्थक बातचीत संभव नहीं: भारत

कार्रवाई बिना सार्थक बातचीत संभव नहीं: भारत

घुसपैठ समाप्त करने और आतंकवादी ढांचे को नेस्तनाबूद करने के लिए पाकिस्तान की ओर से प्रभावशाली कदम की भारत को अब भी प्रतीक्षा होने की बात को ध्यान में रखते हुए विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने सोमवार को कहा कि इन बिन्दुओं पर जब तक इस्लामाबाद अपनी प्रतिबद्धताएं पूरी नहीं करता तब तक सार्थक संवाद संभव नहीं हो सकता।

भारतीय राजदूतों को संबोधित करते हुए कृष्णा ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ बातचीत के जरिए मतभेदों को दूर करना चाहता है और उसने सार्थक विचार विमर्श में शामिल होने और द्विपक्षीय संबंधों को सकारात्मक तरीके से विकसित करने के लिए तैयार होने की बात सूचित कर दी है।

विदेशों में भारतीय हितों को प्रोत्साहित करने के तौर तरीकों पर विचार के लिए दो दिवसीय सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए जुटे 112 मिशन प्रमुखों से कष्णा ने कहा कि हमने दोहराया है कि शांतिपूर्ण स्थिर पाकिस्तान और क्षेत्र वांछनीय लक्ष्य हैं। हम पाकिस्तान के साथ अपने मतभेदों को संवाद के जरिए दूर करने की इच्छा रखते हैं।

कृष्णा ने कहा कि इसके साथ ही हमने स्पष्ट किया है कि सार्थक संवाद तब ही संभव है जब पाकिस्तान अपनी जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए नहीं होने देने की अपनी प्रतिबद्धता को पूरा करता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को इस बारे में किए गए वादों का निश्चित तौर पर सम्मान करना चाहिए। सम्मेलन को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मंगलवार को संबोधित करेंगे।

कृष्णा ने कहा कि पिछले साल 26 नवंबर के मुंबई हमलों के बाद पाकिस्तान ने उसे दिए गए सबूतों के दबाव में कुछ कदम उठाए हैं। हालांकि हम अब भी इस बात की प्रतीक्षा कर रहे हैं कि पाकिस्तान घुसपैठ को खत्म करने और आतंकवाद के ढांचे को नेस्तनाबूद करने के लिए प्रभावशाली कदम उठाए।

कृष्णा ने कहा कि भारत के लिए व्यापक सामाजिक आर्थिक विकास के राष्ट्रीय लक्ष्य की पूर्ति से पहले आतंकवाद और पड़ोस में स्थिरता एवं शांति सुनिश्चित करना मुख्य चुनौतियां हैं। सम्मेलन का उद्घाटन करने वाले कृष्णा ने दुनिया के साथ भारत के जुड़ाव पर भी रोशनी डाली और कहा कि विदेश नीति का मुख्य उद्देश्य विकास, समावेशी विकास और गरीबी उन्मूलन के अग्रणी रणनीतिक लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कार्रवाई बिना सार्थक बातचीत संभव नहीं: भारत