DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू में घमासानः कार्यकर्ता हाथापाई पर उतरे

 सांगठनिक चुनाव को लेकर जदयू में जारी घमासान सोमवार को तब सतह पर आ गया जब जदयू के चुनाव अधिकारियों के आने के बाद सर्किट हाउस में कुछ कार्यकर्ता हाथापाई पर उतर आए। हंगामे से परेशान जिला प्रशासन ने चुनाव अधिकारियों को सर्किट हाउस से निकलने का फरमान जारी कर दिया। बाद में सांसद निवास परिसर में स्थित पार्टी कार्यालय में कुछ कार्यकर्ताओं से बातचीत कर टीम वापस लौट गई।

पूर्व जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह की शिकायत पर राज्य नेतृत्व ने रवीन्द्र कुमार के अध्यक्ष पद पर हुए निर्वाचन के परिणाम की घोषणा पर रोक लगाते हुए इस विवाद की जांच के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं- जगन्नाथ प्रसाद यादव को पर्यवेक्षक तथा जगदीश प्रसाद कुशवाहा को जिला निर्वाचन पदाधिकारी बना कर भेजा गया था।

इन अधिकारियों ने सर्किट हाउस में दोनों पक्षों के साथ बैठक रखी थी। इसी बीच वहां हंगामा शुरू हो गया। इस पर प्रशासन ने आपत्ति जताते हुए चुनाव अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया कि वे राजनीतिक गतिविधियों के लिए सर्किट हाउस का इस्तेमाल न करें। इसके बाद चुनाव अधिकारी सांसद के आवास स्थित पार्टी कार्यालय में चले गए।

बाद में पूर्व अध्यक्ष विश्वनाथ सिंह एवं अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के नेता सीताराम दुखारी ने आरोप लगाया कि उनके साथ मारपीट की गई है और उनके समर्थकों को अधिकारियों से मिलने नहीं दिया गया। दूसरी ओर वरिष्ठ जदयू नेता अश्विनी सिंह एवं प्रवक्ता मनोज सिंह ने कहा कि कहीं कार्यकर्ताओं में मारपीट नहीं हुई है बल्कि प्रशासन की आपत्ति पर स्वयं चुनाव अधिकारी पार्टी कार्यालय मे आ गए और जांच की।

चुनाव पर्यवेक्षक जगन्नाथ प्रसाद यादव ने बताया कि पूर्व जिला अध्यक्ष ने संगठनात्मक चुनाव पर सवाल उठाए थे जिसकी जांच के लिए वे सर्किट हाउस में थे पर प्रशासन की आपत्ति पर वे सांसद निवास स्थित पार्टी कार्यालय में चले गए थे पर वहां दोनों पक्षों से बातचीत संभव नहीं हो सकी। इस लिए अब दूसरे पक्ष से वार्ता के लिए अलग से समय दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनके साथ किसी ने र्दुव्यवहार नहीं किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू में घमासानः कार्यकर्ता हाथापाई पर उतरे