DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सचिन व द्रविड़ की वापसी से टीम मजबूतः हरभजन

सचिन व द्रविड़ की वापसी से टीम मजबूतः हरभजन

ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने अगले महीने श्रीलंका में होने वाली त्रिकोणीय सीरीज को आईसीसी चैंपियन्स ट्राफी की तैयारियों के लिहाज से महत्वपूर्ण करार देते हुए सोमवार को कहा कि सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ की वापसी से टीम मजबूत हुई है जिसका उन्हें इन दोनों टूर्नामेंट में फायदा मिलेगा।

हरभजन ने सोमवार को त्रिकोणीय सीरीज के लिए कामपैक कप का अनावरण करने के बाद पत्रकारों से कहा कि हमें आगे दो महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में भाग लेना है और चैंपियन्स ट्राफी के लिहाज से यह टूर्नामेंट (त्रिकोणीय सीरीज) हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। हमारे पास प्रतिभाशाली, युवा और अनुभवी खिलाड़ी हैं तथा सचिन और द्रविड़ की वापसी से टीम संतुलित बन गई है। ये दोनों और युवराज केवल अपनी बल्लेबाजी के दम पर मैच जिता सकते हैं और यह हमारा मजबूत पक्ष है।

टर्बनेटर ने कहा कि भारतीय टीम ने हाल में श्रीलंका और न्यूजीलैंड को उनकी सरजमीं पर हराया है और इसलिए आठसितंबर से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में उनकी टीम जीत की प्रबल दावेदार रहेगी। वनडे क्रिकेट में 210 विकेट ले चुके हरभजन ने कहा कि हमने न्यूजीलैंड को उसकी धरती पर हराया और श्रीलंका को भी उसकी सरजमीं पर मात दी है। पिछले दो साल में हमने लगभग हर टीम को शिकस्त दी है और यदि हम अपनी क्षमता से खेलते हैं तो यह खूबसूरत डिजीटल ट्राफी हमारी होगी और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम ऐसा करेंगे।

न्यूजीलैंड के कप्तान डेनियल विटोरी और श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा ने भी अपने संदेश में स्वीकार किया कि भारत को हराना आसान नहीं होगा। विटोरी ने कहा कि हम भरत के खिलाफ अपनी प्रतिद्वंद्विता को नए अंजाम पर पहुंचाने के लिए तैयार हैं।

इस बीच हरभजन ने स्वीकार किया कि टीम को कंधे की चोट से उबर रहे वीरेंद्र सहवाग और तेज गेंदबाज जहीर खान की कमी खलेगी लेकिन साथ ही कहा कि टीम उनकी भरपाई करने में सफल रहेगी। उन्होंने कहा कि सहवाग जैसे खिलाड़ी की किसी भी टीम को कमी खलेगी। वे हमें जबरदस्त शुरुआत देते रहे हैं। हम उनकी कमी पूरी करने की कोशिश करेंगे। आशा है कि वह जल्द ही फिट होकर टीम में लौटेंगे।

हरभजन ने कहा कि जहां तक जहीर का सवाल है तो वह टीम का सबसे अनुभवी गेंदबाज है लेकिन उनकी अनुपस्थिति में नेहरा, ईशांत शर्मा और आरपी सिंह के पास खुद की जगह मजबूत करने का बढ़िया मौका रहेगा। उन्होंने इसके साथ ही इस बात को नकार दिया कि द्रविड़ और आशीष नेहरा को टीम में लेना एक कदम पीछे लौटने जैसा है। हरभजन ने कहा कि कोई 31 साल में (नेहरा के संदर्भ में) बूढ़ा नहीं हो जाता है। जो भी अच्छा खेलेगा वह टीम में होगा कई महान खिलाड़ी 35-36 साल तक खेलते रहे हैं। उम्र चयन का मानक नहीं होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सचिन व द्रविड़ की वापसी से टीम मजबूतः हरभजन