class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन और जानें गई, देश में कुल संख्या 72 पहुंची

तीन और जानें गई, देश में कुल संख्या 72 पहुंची

महाराष्ट्र, कर्नाटक और गुजरात में स्वाइन फ्लू से एक बच्चे और दो प्रौढ़ व्यक्तियों की मौत होने के साथ ही इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 72 हो गई है। पुणे में फ्लू के संक्रमण की आशंका के चलते दो सप्ताह पहले बंद किए गए स्कूल और कॉलेज सोमवार को खुल गए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने दिल्ली में बताया कि रविवार तक विभिन्न राज्यों से स्वाइन फ्लू के संक्रमण के करीब 100 से अधिक नए मामलों की खबर थी।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि पुणे में ढ़ाई साल की एक बच्ची को जिगर की तकलीफ थी। स्वाइन फ्लू के लिए जांच करने पर उसके नतीजे पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद बच्ची को कमांड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

अधिकारियों के अनुसार, रविवार रात बच्ची की मौत हो गई। इस बच्ची को मिलाकर, स्वाइन फ्लू से सर्वाधिक प्रभावित पुणे में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 23 और महाराष्ट्र में 39 हो गई है।

बेंगलूरु में 50 वर्षीय एक महिला सरोजम्मा को 15 अगस्त को तिरूमाला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल सूत्रों ने बताया कि फ्लू पीड़ित इस महिला को टैमी फ्लू दवा दी जा रही थी लेकिन रविवार रात उसकी मत्यु हो गई।

राजकोट में 52 वर्षीय राजेश उधाड को स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण जैसे बुखार, श्वांस लेने में तकलीफ और उल्टी के कारण 20 अगस्त को वोकहार्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया। सोमवार सुबह उसकी मत्यु हो गई। राजेश की मत्यु के बाद गुजरात में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या सात हो गई है।

देश भर में स्वाइन फ्लू अब तक 72 व्यक्तियों की जान ले चुका है। इस बीमारी से कर्नाटक में 13 व्यक्ति, तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ में तीन तीन व्यक्ति, दिल्ली में दो व्यक्ति, केरल, गोवा, राजस्थान, उत्तराखंड और हरियाणा में एक-एक व्यक्ति की मत्यु हो चुकी है।

पुणे में प्रशासन ने फ्लू के वायरस एच1एन1 का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए दो सप्ताह पहले स्कूल कॉलेज बंद कर दिए थे। सोमवार को इन स्कूलों और कॉलेजों को दोबारा खोल दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन और जानें गई, देश में कुल संख्या 72 पहुंची