class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माता-पिता मांग रहे हैं चार बेटों के लिए इच्छा मृत्यु

माता-पिता मांग रहे हैं चार बेटों के लिए इच्छा मृत्यु

लाइलाज बीमारी से जूझ रहे चार युवा पुत्रों के लिए एक दम्पत्ति ने राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से इच्छा मृत्यु की इजाजत मांगी है। इस बाबत उन्होंने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती को भी पत्र भेजे हैं।

पुत्रों की दशा से लाचार गरीब दम्पत्ति के पास कोई चारा नहीं बचा है। इलाज के कारण परिवार कर्ज में डूब चुका है और पुत्रों का मर्ज भी लाइलाज है।

मिर्जापुर जिले के लालगंज क्षेत्र के बसही गांव के निवासी जीत नारायण और प्रभावती देवी के चार युवा पुत्र दुर्गेश 23 वर्ष, सर्वेश 20 वर्ष, बृजेश 18 वर्ष और सुशील 16 वर्ष जानलेवा बीमारी (मास्क्यूलर डिस्ट्राफी) नामक रोग से पीडित हैं। डाक्टरों ने इनके मृत्यु के अधिकतम दिन भी निर्धारित कर दिए है। जीतनारायण और उसकी पत्नी अब पुत्रों की दशा देख टूट चुके हैं और पूरे परिवार के साथ इच्छा मृत्यु चाहते हैं।

जीतनारायण ने बताया कि इस अजीब बीमारी को सामान्य रूप में लेकर स्थानीय स्तर पर ही इलाज शुरू किया था लेकिन एक के बाद एक चारों पुत्र इसके चपेट में आते गए। उसने बताया कि इलाज के लिए उन्हें पीजीआई लखनऊ तथा दिल्ली भी ले जाया गया लेकिन हर जगह से निराशा ही हाथ लगी।

जिले के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. नीरज त्रिपाठी ने बताया कि ये रोग जीन की गडबडी से होते हैं। इसमें मांस पेशियां धीरे धीरे कमजोर होती चली जाती हैं और इस रोग से ग्रसित मरीज की अधिकतम आयु 25 वर्ष होतीहै।

इच्छा मृत्यु की अनुमति के सम्बन्ध में जीत नारायण ने बताया कि वह विशेष पढा लिखा नहीं है लिहाजा अपने रिश्तेदार के माध्यम से राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी है। उसने बताया कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखे हैं।

उसने बताया कि सहानुभूति के लिए उनके पास आज तक न कोई जन प्रतिनिधि न ही कोई अधिकारी और न ही कोई समाजसेवी संस्था आई। उसका कहना है कि उससे पुत्रों की दशा नहीं देखी जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माता-पिता मांग रहे हैं चार बेटों के लिए इच्छा मृत्यु