DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैट की तैयारी

कैट की परीक्षा होने में तकरीबन तीन महीने का समय बाकी है। ध्यान रखने वाली बात है कि कैट को क्रेक करना का कोई रॉकेट साइंस जैसा फॉर्मूला नहीं है। इसके अलावा इस परीक्षा का कोई स्टैंडर्ड फ्रेमवर्क या निश्चित पैटर्न भी नहीं है, जिसके आधार पर तैयारी की रूपरेखा बनाई जाए। ऐसे में बेहतर यही है कि अपनी तैयारी को जांचने के लिए जरूरी है कि आप मॉक टेस्ट देते रहें।

- बहुत से नॉन-इंजीनियरिंग छात्र जो स्नातक परीक्षा के अंतिम वर्ष में होते हैं, कैट की परीक्षा में बैठते हैं। उनके पास कोचिंग करने के लिए वक्त काफी कम होता है, क्योंकि कैट परीक्षा के साथ उन्हें उनकी स्नातक परीक्षा की भी तैयारी करनी होती है। ऐसे में मॉक टेस्ट आपको खुद को आंकने का अवसर देते हैं। इस बात से सभी वाकिफ हैं कि कैट में टाइम मैनेजमेंट की भूमिका काफी महत्वूपर्ण होती है। इसलिए मॉक टेस्ट तैयारी के स्तर को जांचने में महत्वपूर्ण होते हैं।

- आम धारणा होती है कि कैट में पूछे जने वाले प्रश्न कठिन ही होते हैं। आमतौर पर कैट की परीक्षा में पूछे जाने वाले तकरीबन 40 प्रतिशत प्रश्न सामान्य स्तर के ही होते हैं। ऐसे में समझदारी इसी में है कि आप इन प्रश्नों को चिह्न्ति करने की कोशिश करें।

- जैसा कि हमेशा कहा जाता है कि जितना आप अभ्यास करेंगे, उतना ही बेहतर कर पाएंगे। जहां तक कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट की बात है, तो इसे हौव्वा न बनाएं। आप जितना ज्यादा कंप्यूटर के मॉक टेस्ट देंगे, आपको उस माहौल के अनुरूप खुद को ढाल पाना उतना ही आसान हो जाएगा।

- अगर आप गणित और डाटा इंटरप्रिटेशन में तेज हैं और अंग्रेजी में उतने ही कमजोर तो आपके लिए कैट क्रैक करने की राहें मुश्किल हो सकती हैं। ऐसे में अभी से तैयारी में
जुट जाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैट की तैयारी