DA Image
29 जनवरी, 2020|5:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ पर मुकदमा चलाने को लेकर मतभेद: गिलानी

मुशर्रफ पर मुकदमा चलाने को लेकर मतभेद: गिलानी

पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक और राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर कानूनी शिकंजा कसने में विलंब करने के लिए विपक्षी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (पीएमएल एन) के निशाने पर आने के बाद प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने रविवार को माना कि मुशर्रफ पर मुकदमा चलाने के मामले में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) और नवाज शरीफ की पार्टी के बीच मतभेद हैं।

गिलानी योजना आयोग के उपाध्यक्ष सरदार आसफ अहमद अली के आवास पर गए। वहां उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। संविधान के अनुच्छेद छह के तहत मुशर्रफ के खिलाफ मुकदमे का मामला अभी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि मुशर्रफ के खिलाफ मुकदमे के लिए अपनाई जाने वाली प्रक्रिया पर विचारों में मतभेद है। लेकिन पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ कानूनी कार्यवाही शुरू की जाएगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने घोषणा की थी कि मुशर्रफ के खिलाफ मुकदमे के लिए संसद यदि आम सहमति से एक प्रस्ताव पारित कर दे तो पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ उनकी सरकार कानूनी कार्यवाही शुरू कर देगी।

इसके बाद धारणा बनी कि गिलानी की इस घोषणा से पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के साथ उनके संबंधों में खटास आ गई। गिलानी ने इस धारणा को दूर करने का प्रयास किया। गिलानी ने कहा कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के साथ मेरे अच्छे संबंध हैं। मुझे आशा है कि पार्टी प्रमुख नवाज शरीफ निराश नहीं होंगे।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज मुशर्रफ के खिलाफ राजद्रोह के आरोपों में मुकदमा चलाने की मांग करती रही है। उच्चतम न्यायालय ने बीते माह कहा था कि वर्ष 2007 में देश में लगाया गया आपातकाल अवैध और असंवैधानिक था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मुशर्रफ पर मुकदमा चलाने को लेकर मतभेद: गिलानी