DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू के साथ ही बर्डफ्लू के खिलाफ अभियान शुरू

ठंडे मौसम और स्वच्छ वातावरण के लिए मशहूर पर्वतीय राज्य उत्तराखण्ड में स्वाइन फ्लू से लड़ने के साथ साथ सम्भावित बर्ड फ्लू को निमरूल करने के लिए राज्य सरकार ने अभियान शुरू कर दिया है।

उत्तराखण्ड में स्वाइन फ्लू से अब तक एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है और करीब 100 संदिग्ध व्यक्तियों के रक्त के नमूने जांच के लिये नई दिल्ली प्रयोगशाला में भेजे जा चुके हैं। वहीं संभावित बर्ड फ्लू से निपटने के लिये अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है।

राज्य के नोडल अधिकारी डा पंकज जैन ने भाषा को बताया कि बर्ड फ्लू और स्वाइन फ्लू के लिए एक ही दवा दी जती है और वह  टेमीफ्लू  है। इसके लिये स्वास्थ्य विभाग ने अभी से डॉक्टरों को प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया गया ।

जैन ने बताया कि आम तौर पर बर्ड फ्लू की बीमारी अक्तूबर और नवम्बर से शुरू होती है। चूंकि अब अगस्त का महीना समाप्त होने वाला है। इसलिए सितंबर में ही बर्ड फ्लू से निपटने की तैयारियों को अंतिम रूप देने का लक्ष्य रखा गया है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू के साथ ही बर्डफ्लू के खिलाफ अभियान शुरू