DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरेगा और जल संसाधन में गड़बड़ी

राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने घोटाले के आरोप में जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता ब्रह्मदेव सिंह, सहायक अभियंता हरिहर पांडेय और जेइ वाइजुल हक अंसारी और सुरश प्रसाद को निलंबित करने का आदेश दिया है। इन चारों इंजीनियरों पर विभागीय कार्यवाही भी चलेगी। इनके खिलाफ स्वर्णरखा नहर प्रमंडल घाटशिला में 12 लाख हाार 2पये की गड़बड़ी का आरोप है। इंजीनियरों ने मिल कर चांडिल बायीं मुख्य नहर के बीच लाइनिंग काम में वास्तविक काम से अधिक की मापी कर ठेकेदार को उपरोक्त राशि का भुगतान किया।ड्ढr स्व तुरिया मुंडा के मामले में दोषी अधिकारी नपेड्ढr रांची। नरगा में गड़बड़ी करने के आरोप में बुंडू विशेष प्रमंडल के सहायक अभियंता अनिल कुमार, जेइ अशोक कुमार और जवाहर लाल राम को निलंबित करने का आदेश दिया गया है। तत्कालीन प्रखंड कृषि पदाधिकारी विनय कुमार सिन्हा को भी निलंबित करने का आदेश दिया गया है। तत्कालीन बीडीओ सुनील कुमार के विरुद्ध पर्यवेक्षण में लापरवाही बरतने के लिए विभागीय कार्यवाही करने का आदेश दिया गया है। बुंडू के प्रभारी पर्यवेक्षक और प्रखंड कल्याण पदाधिकारी विजन उरांव को भी निलंबित किया गया है। पंचायत सेवक रघुनाथ स्वांसी को भी निलंबित करने का आदेश रांची के डीसी को दिया गया है। पांच बीडीओ प्रदीप कुमार, दिलीप कुमार, राजकुमार, शैल प्रभा कुाूर और ललन कुमार को चेतावनी देते हुए उनके 2007-08 के वार्षिक गोपनीय अभियुक्ित में अंकित करने का आदेश दिया गया है। इन सभी पर बुंडू प्रखंड के योजना में कार्य करनेवाले तुरिया मुंडा की मजदूरी का भुगतान करने में लापरवाही बरतने का आरोप है। राज्यपाल ने स्व मुंडा के आश्रितों के भरण-पोषण की व्यवस्था करने का भी आदेश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नरेगा और जल संसाधन में गड़बड़ी