DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

6.5 से 7 फीसदी तक होगी वृद्धि दरः सीआईआई

6.5 से 7 फीसदी तक होगी वृद्धि दरः सीआईआई

देश के अग्रणी वाणिज्य एवं उद्योग मंडल भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) का कहना है कि उद्योग और सेवा क्षेत्र के अच्छे प्रदर्शन के चलते चालू वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर 6.5 से लेकर 7 प्रतिशत के बीच रहेगी, लेकिन निर्यात कारोबार में लगातार गिरावट वित्तीय मजबूती और ब्याज दरों को लेकर चिंता बनी रहेगी।

देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति पर सीआईआई की रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है। इसमें कहा गया है कि पहले के मुकाबले स्थिति में सुधार आया है। ताजा अध्ययन के मुताबिक वर्ष के दौरान कृषि खेत्र में एक से लेकर दो प्रतिशत की वृद्धि हासिल होगी।

औद्योगिक क्षेत्र में छह से लेकर साढे¸ छह और सेवा क्षेत्र 8.4 से 8.7 प्रतिशत के बीच बढ़ेगा। कुल मिलाकर चालू वित्त वर्ष में 6.5 से 7 प्रतिशत तक जीडीपी वृद्धि का अनुमान है। यहां यह उल्लेखनीय है कि उद्योग संगठन ने मानसून की बेरुखी और देश के लगभग आधे जिलों के सूखे के चपेट में आने के बावजूद कृषि क्षेत्र में सालभर में दो प्रतिशत तक वृद्धि का अनुमान लगाया गया है।

सीआईआई महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी के मुताबिक वर्ष की पहली तिमाही में औद्योगिक परिणाम स्थिरता के रुझान वाले दिखाई दिए। विभिन्न क्षेत्रों की 515 कंपनियों के नमूना सर्वेक्षण के मुताबिक कंपनियों के शुद्ध बिक्री कारोबार की वृद्धि दर तो कुछ कम हुई है लेकिन उनके शुद्ध मुनाफा वृद्धि दर में सुधार आया है।

अध्ययन के मुताबिक जून 2009 को समाप्त चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनियों के बिक्री कारोबार की वृद्धि दर पिछली तिमाही में हासिल 5 प्रतिशत के मुकाबले कुछ हल्की रहकर 4.2 प्रतिशत रह गई लेकिन कच्चे माल के दाम घटने और बिजली, ईंधन की लागत घटने से उनके शुद्ध मुनाफे में 26 प्रतिशत की जोरदार वृद्धि हासिल की गई जबकि इससे पिछले तिमाही में इसमें 7.2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:6.5 से 7 फीसदी तक होगी वृद्धि दरः सीआईआई