class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे जमीन पर कब्जा कर बसाई कॉलोनी

स्टेशन के आसपास करोड़ों रुपये की रेलवे जमीन पर लोगों ने लंबे समय से अवैध कब्जा किया हुआ है। इतना ही नहीं उस जमीन पर पक्के मकान तक बनाए दिए गए हैं। अब रेलवे अधिकारियों ने इस जमीन की रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट के बाद जमीन की जांच शुरू कर दी गई है। बताया गया है कि गऊशाला फाटक के पास तो कॉलोनी के बीच में आज भी रेलवे लाइन दबी पड़ी है।

गाजियाबाद रेलवे स्टेशन को बने सौ साल से भी ज्यादा हो चुके हैं। बताया गया है कि जिस समय यह स्टेशन बनाया गया था, उस समय रेलवे के पास काफी जमीन थी। धीरे-धीरे रेलवे लाइन के आसपास कॉलोनी बसनी शुरू हो गई। कुछ कॉलोनी रेलवे ने अपने कर्मचारियों के रहने के लिए बना दी। उन्हीं कालोनियों के आसपास पड़ी रेलवे की जमीन पर अवैध रूप से बाहरी लोगों ने कब्जा कर लिया व कच्चे मकान बनाकर रहने लगे।

अब स्थिति यह हो गई हैं रेलवे की इस जमीन पर पक्के मकान बन गए हैं। मकानों के बीच से जमीन में धंसी रेलवे लाइन गुजर रही हैं। बताया गया है कि जो रेलवे लाइन जमीन में दबी हैं वह काफी समय पहले बंद कर दी गई थी। इसके साथ ही कोटगांव फाटक, भूड़ भारत नगर, पंजाब लाइन व आर्य नगर रेलवे कालोनी में भी रेलवे की जमीन पर अवैध कब्जा बताया गया है।

रेलवे अधिकारियों ने अब रेलवे की जमीन को कब्जा मुक्त कराने की योजना बनाई है। रेलवे सूत्रों की माने तो अधिकारियों ने रेलवे की कितनी जमीन पर अवैध कब्जा है इसकी रिपोर्ट मांगी हैं। इस आदेश के बाद अब स्थानीय रेलवे अधिकारी इसकी जांच में लग गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेलवे जमीन पर कब्जा कर बसाई कॉलोनी